कटे सिर और हाथ-पैर की कब्रगाह बना शाहाबाद का यह गांव

0

कुरुक्षेत्र। शाहाबाद सब डिविजन का रावा गांव इन दिनों कटे सिर और कटे हाथ-पैर की कब्रगाह बना हुआ है। खबरों की गर मानें तो पिछले 15 दिनों से लगाता इस इलाके में अलग-अलग जगहों के अजनबी लोगों के कटे सिर और कटे हुए हाथ-पैर मिल रहे हैं। 5 जनवरी को धौपुर नलवी नहर से 12 साल के एक बच्चे का क्षत-विक्षत शव बरामद किया गया था। उसका एक हाथ और धड़ का कुछ हिस्सा गायब था।

कटे सिर और कटे हाथ

कटे सिर और कटे हाथ मिलने से अफरा-तफरी का माहौल

इसके बाद 12 जनवरी को गांव में किसी शख्स ने एक कटा हुआ सिर देखा जिसकी आंखें और कान गायब थे। तो वहीं रविवार 15 जनवरी को गन्ने के खेत से एक हाथ बरामद किया गया जिसपर रमेश गुदा हुआ था।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, विक्रम कुमार के खेत से कटा हुआ हाथ मिला था। उनका कहना है कि हमें डर है कि यह इंसान की बलि या काला जादू से संबंधित कोई घटना हो सकती है। हम गांव के मंदिर और गुरुद्वारे से लगातार घोषणाएं कर रहे हैं कि गांव के लोग घबराएं नहीं और रात में गांववाले बारी बारी से पहरेदारी कर रहे हैं।

शाहाबाद के एसएचओ दलीप सिंह ने कहा, ‘इलाके में ढेर सारे गन्ने के खेत हैं और वे लोग इन सभी खेतों में खोजबीन कर रहे हैं ताकि पता लगाया जा सके कि आखिर शरीर के ये कटे हुए अंग गांव में कैसे मिल रहे हैं। मैं इस वक्त कोई कमेंट नहीं कर सकता लेकिन हम इस मामले में खोजी कुत्तों की भी मदद ले रहे हैं।’ पुलिस ने गांव के पास बरारा जाने वाली सड़क पर एक स्थायी पुलिस कंट्रोल रूम भी बना दिया है ताकि आसपास से गुजरने वाले लोगों और वाहनों की संदिग्ध गतिविधि पर नजर रखी जा सके।

Edited by- Jitendra Nishad

loading...
शेयर करें