कठुआ गैंगरेप केस : कोर्ट में सांझी राम के बदले सुर, बोले- ‘मैं तो बच्ची के दादा जैसा हूं’

नई दिल्ली। पूरे देश को हिलाकर रखने वाला कठुआ गैंगरेप मामले में मुख्य आरोपी सांझी राम ने कोर्ट में खुद को बेकसूर बताया है। सांझी राम ने कोर्ट से कहा कि इस मामले में असली गुनाहगारों को पकड़ने के लिए सीबीआई से जांच करानी चाहिए।

कठुआ गैंगरेप

मुख्य आरोपी सांझी राम ने कोर्ट में कहा है कि वह बेकसूर है और वह बच्ची के दादा की तरह है। पुलिस उसे जानबूझकर फर्जी मामले में फंसाने की कोशिश कर रही है। उसने कहा कि मैं और सभी आरोपी इस मामले में आठ साल की बच्ची के साथ इंसाफ चाहते हैं। साथ ही मांग की है कि मामले की निष्पक्ष एजेंसी से मांग करानी चाहिए जिससे कि आरोपियों के साथ अन्याय नहीं हो। मामले के सभी आठ आरोपियों ने केस की सुनवाई चंडीगढ़ कोर्ट में भी ट्रांसफर करने का विरोध किया है।

उधर पीड़ित परिवार का कहना है कि जब रिपोर्ट लिखाई तब आरोपियों को नहीं पकड़ा गया और आरोपी छूटे तो उनकी जान को ख़तरा हो सकता है। परिवार का कहना है कि इंसाफ़ दो या मार डालो। परिवार का कहना है कि सांझी राम बेगुनाह नहीं है। उन्‍होंने कहा कि बहुत लोग उनके पास आए और कहा कि CBI जांच की मांग करो। इस मामले में दो मुख्य आरोपियों ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर सीबीआई को जांच सौंपने की मांग की थी ताकि उन्‍हें न्‍याय मिल सके।

गौरतलब है कि जनवरी में आठ साल की एक बच्ची का शव कठुआ के रासना जंगल से मिला था। उससे गैंगरेप करने के बाद उसकी हत्या कर दी गई थी।

 

Related Articles