कन्हैया कुमार ने दी धमकी, अगर छात्रों को जेएनयू से निष्कासित किया तो…

1

नई दिल्ली। जेएनयू के छात्र उमर खालिद और अनिर्बान भट्टाचार्य को यूनिवर्सिटी के निष्कासित करने के फैसले के बाद बवाल बढ़ गया है। छात्र संघ ने इस मामले पर देशव्यापी अभियान की धमकी दी है। जेएनयू प्रशासन ने ‘देशद्रोह’ मामले में जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार, उमर खालिद को अनुशासन तोड़ने का दोषी पाया था। जेएनयू प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए कन्हैया कुमार पर दस हजार रुपए का जुर्माना लगाया है जबकि‍ उमर खालिद को एक सेमेस्टर के लिए निष्कासित किया था।

यह भी पढ़ें : ऋतिक और कंगना की फोटो हुई लीक, इसे देखकर समझ जाएंगे इनके रिश्ते की गहराई

कन्हैया कुमार

कन्हैया कुमार ने किया ट्वीट

जेएनयू छात्रसंघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने कहा कि हास्यास्पद जांच के आधार पर दंडात्मक कार्रवाई बस अस्वीकार्य है और संघ इसे खारिज करता है। कन्हैया कुमार ने ट्वीट किया कि जेएनयू हास्यास्पद समिति के आधार पर प्रशासन द्वारा दंड दिए जाने को खारिज करता है। अपने विरूद्ध फैसले को ‘अस्वीकार्य’ करार देते हुए अनिर्बान और उमर ने आरोप लगाया कि प्रशासन की कार्रवाई आरएसएस की शह पर परेशान करने जैसी है।

क्या था मामला

जेएनयू ने उमर खालिद को एक सेमेस्टर और मुजीब गट्टू को 2 सेमेस्टर के लिए निष्कासित किया है। जबिक अनिर्बान भट्टाचार्य पांच साल तक विश्वविद्यालय में कोई कोर्स नहीं कर सकते। इस मामले में जांच के लिए बनाई गई पांच सदस्यीय समिति ने कुछ दिनों पहले अपनी रिपोर्ट सौंपी थी जिसमें कन्हैया सहित 21 छात्रों को दोषी माना गया। जेएनयू छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष आशुतोष, उपाध्यक्ष अनंत, छात्रसंघ के वर्तमान जनरल सेक्रेटरी रामा नागा समेत कुछ और छात्रों का एकेडमिक सस्पेंशन भी तय माना जा रहा था। देशद्रोह के मामले में कन्हैया कुमार, उमर खालिद और अनिर्बान भट्टाचार्य छह महीने की जमानत पर जेल से बाहर हैं। इन पर देश के खिलाफ नारेबाजी करने का आरोप है।

loading...
शेयर करें

1 टिप्पणी

  1. PIG SHIT PAPER:TOI-LET PAPER PROMINENTLY HEADLINED ‘KANHAIYA SET TO PEN BOOK ‘BIHAR TO TIHAR’. KANHAIYA HAS BEEN TOURING CAMPUSES ALL OVER INDIA BY AIR BUSINESS CLASS. NO BLOODY PAPER HAS THE GUTS AND COURAGE TO ASK AS TO WHO IS ARRANGING HIS EXORBITANT EXPENSIVE JOINTS IN ORDER TO FACILITATE HIM IN HIS MISSION ‘DESH KE TUKDE KARNE AUR BHARAT KI BARBADI TAK JUNG RAHE GI’. IN HIS REPLY TO PIG SHIT PAPER HE LAUGHINGLY STATES THAT HE BELONGS TO A VERY POOR FAMILY. NO FURTHER QUESTION BY PIGSHIT PAPER TO EXPLAIN AS TO FROM WHERE COMES HIS ALL INDIA TOURS BY BUSINESS CLASS AIR TRAVELS FOR HIS MISSION OF ‘BHARAT KE TUKDE KARNA AUR BHARAT KU BARBADI TAK JUNG LADNE KE LIYE’. ARE NOT THEY PROJECTING PROPAGATING THEIR SON IN LAW KEEPING HIM IN LIME LIGHT. PLEASE REPLY EITHER YES OR NO. KINDLY SHARE ALSO.