कपिल मिश्रा ने दिया आप नेता के सवालों का जवाब, किया रिश्तेदार के नाम का खुलासा

0

नई दिल्ली: दिल्ली की सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (आप) सरकार के पूर्व मंत्री कपिल मिश्रा ने बीते दिन मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए जिस रिश्तेदार का जिक्र किया था, सोमवार को आप नेता संजय सिंह के हमले के बाद उन्होंने उस रिश्तेदार का खुलासा कर दिया है। एक प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन कर सोमवार को कपिल मिश्रा ने बताया कि केजरीवाल के जिस रिश्तेदार की जमीन सौदे के लिए केजरीवाल को दो करोड़ रुपये की रिश्वत दी गई थी, वह कोई और नहीं बल्कि केजरीवाल के साढू हैं।

कपिल मिश्र

कपिल मिश्रा ने किया केजरीवाल के रिश्तेदार के नाम का खुलासा

कपिल मिश्रा ने केजरीवाल के खिलाफ आरोपों की झड़ी लगाते हुए उन सवालों का जवाब भी दिया जो संजय सिंह ने उनपर हमला करते हुए दागे थे। कपिल मिश्रा ने कहा कि संजय सिंह ने आज मुझसे कुछ सवाल पूछे हैं। मैं सभी सवालों के जवाब दूंगा। संजय सिंह ने पूछा केजरीवाल के रिश्तेदार का नाम बताएं? सत्येंद्र जैन ने मुझे खुद बताया कि छतरपुर में एक सात एकड़ के फॉर्म के लिए और पीडब्लूडी विभाग के दस करोड़ के फर्जी बिलों को सही साबित करने का काम सत्येंद्र जैन ने किया। अरविंद के साढू लगते हैं, बंसल परिवार की संस्थाएं हैं उनके लिए किया।

कपिल मिश्रा ने कहा कि संजय सिंह ने मोदी का एजेंट होने का आरोप लगा? मैं बीजेपी में कभी नहीं जाऊंगा। मोदी की नीतियों के खिलाफ मैंने हमेशा आवाज उठाई। मोदी के खिलाफ अगर कोई बीजेपी के खिलाफ अगर कोई एक आदमी बोला है तो वो कपिल मिश्रा है। जो भी आपके खिलाफ बोलता है चाहें वो पत्रकार हो, नेता हो आप बीजेपी का एजेंट होने का आरोप लगाने लगते हैं। मैं कभी बीजेपी ज्वाइन नहीं करूंगा।

कपिल मिश्रा ने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के लोग फोन कर धमकी दे रहे हैं पर मैं डरूंगा नहीं।
उन्होंने कहा कि अरविंद केजरीवाल कुर्सी नहीं छोड़ सकते हैं। उन्हें बताना चाहिए कि जब जैन जेल जाएंगे तब भी कुर्सी छोड़ेंगे या नहीं। उन्होंने कहा कि पंजाब विधानसभा और दिल्ली नगर निगम चुनाव में पैसे लेकर टिकट दिए गए। इसी के साथ उन्होंने सभी मंत्रियों की फाइल रामलीला मैदान में सार्वजनिक करने के साथ पार्टी कभी नहीं छोड़ने का एलान किया।

आपको बता दें कि आप नेता संजय सिंह ने कपिल मिश्रा पर हमला बोलते हुए कहा था कि जिस तरह के आरोप मिश्रा ने लगाए हैं, उससे स्पष्ट होता है कि उनका इस्तेमाल केजरीवाल तथा दिल्ली सरकार के अन्य मंत्रियों को बदनाम करने के लिए किया जा रहा है। संजय सिंह ने कहा था कि मिश्रा अब भाजपा तथा कांग्रेस की भाषा बोल रहे हैं। वह वही बातें कह रहे हैं, जो कुछ महीनों पहले दोनों पार्टियां कहती थीं। इससे यह स्पष्ट हो चला है कि इसके पीछे कौन है। बर्खास्तगी के एक दिन बाद मिश्रा ने आरोप लगाया कि उन्होंने केजरीवाल को दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री से दो करोड़ रुपये स्वीकार करते देखा।

 

loading...
शेयर करें