मोदी विश्वास के लायक नहीं, डरते हैं संसद में आने से

0

इंदौर। नोटबंदी को लेकर नरेंद्र मोदी पर अपना हमला जारी रखते हुए कांग्रेस ने कहा कि प्रधानमंत्री विश्वास करने लायक नहीं हैं। इसके साथ ही आरोप लगाया कि वह संसद का सामना करने से डरते हैं। कांग्रेस के नेता कपिल सिब्बल ने संवाददाताओं से कहा कि जब मोदी ने पहली बार संसद में प्रवेश किया था, तब उन्होंने इसे एक मंदिर कहा था।

लेकिन, अब वह संसद की परंपरा और शिष्टाचार की परवाह नहीं करते हैं। वह संविधान पर एक पुस्तक का विमोचन करेंगे, लेकिन उन्होंने संविधान का यथोचित सम्मान नहीं किया है।

कपिल सिब्बल

कपिल सिब्बल ने कहा, मोदी विश्वास के लायक नहीं, डरते हैं संसद में आने से 

लगातार संसद आने से बचने के लिए मोदी की निंदा करते हुए कपिल सिब्बल ने कहा कि ऐसा प्रतीत होता है कि प्रधानमंत्री अपनी पार्टी के सदस्यों से डरते हैं, अन्यथा वह लोकसभा क्यों नहीं आते हैं जहां उनकी पार्टी (भाजपा) को पूर्ण बहुमत प्राप्त है।

पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि वह संसद में प्रवेश करने से डरते हैं, क्योंकि वह जानते हैं कि जो सवाल उठ रहे हैं उसका वह उत्तर नहीं दे पाएंगे और बेनकाब हो जाएंगे। उन्हें समझना चाहिए कि नोटबंदी से देश बदल नहीं रहा है, बल्कि जल रहा है।

सिब्बल ने कहा कि मोदी ने वादा किया था कि 80 लाख करोड़ कालाधन भारत वापस लाएंगे। क्या उन्होंने उस वादे को पूरा किया? उन्होंने कहा कि वह लोकपाल लाएंगे। क्या प्रधानमंत्री ने इसे लागू किया? सिब्बल ने कहा कि कौन सा वादा उन्होंने पूरा किया है? हमें उन पर क्यों विश्वास करना चाहिए? हमें इस प्रधानमंत्री पर विश्वास नहीं है। यह विश्वास करने लायक नहीं हैं।

loading...
शेयर करें