कब्र से निकली लाश, बताएगी अपनी मौत का राज

0

लखनऊ। कब्र से निकली लाश बताएगी अपनी मौत का राज। जीं हां, आठ माह पहले एक युवक की मौत कैसे हुई यह सच सामने नहीं आ पाया। आठ माह बाद अब कब्र से निकली लाश के पोस्टमार्टम से यह सच सामने आ सकेगा कि उस युवक की मौत्‍ कैसे हुई थी ? आरोप है कि प्रापर्टी की लालच में पत्नी और साले ने ही युवक को जहर दे दिया था जिससे उसकी मौत हुई। घटना जौनपुर की है।

कब्र से निकली लाश

कब्र से निकली लाश के पोस्टमार्टम से सामने आएगा मौत का सच

जौनपुर के नगर कोतवाली इलाके के मखदूमशाह अढ़न मोहल्ले का निवासी जफर अब्बास कानपुर के नौबस्ता के मछरिया बाजार में ट्रांसपोर्ट का काम करता था। 20 जून 2015 को जफर की रहस्यमय हालत में मौत हो गई थी। बीवी नफीस फात्मा और उसका भाई फराज शव लेकर जौनपुर आए और लाश को दफना दिया। परिवार वाले उसे स्वभाविक मौत मानकर चल रहे थे। इसी बीच उसकी पत्नी नफीस फात्मा ससुराल वालो से लड़ झगड़कर माइके चली गयी। कुछ दिन बाद पता चला कि ज़फर के सारे व्यापार पर बीवी और साले फराज का नाम दर्ज हो गया।

कब्र से निकली लाश 1

भाई ने पड़ताल की तो पता चला मौत बीमारी से नहीं जहर देने से हुई 

नफीस फात्मा के ससुराल से चले जाने पर जफर के भाई आरिफ को शक हुआ। वह अपने भाई की मौत की तहकीकात करने लगा। कानपुर जाकर उसने कानपुर जाकर उसने मकान मालिक और ज़फर के दोस्तों से बात की। तब उसे पता चला कि उसके भाई जफर की मौत किसी बीमारी के कारण नही हुई। नफीस फात्मा और साले फराज ने जहर देकर जफर को मारा था।

मरने से पहले बनवा लिया था जफर का डेथ सार्टिफिकेट

ज़फर का डेथ सार्टिफिकेट मरने से एक दिन पहले यानी बीते 19 जून 2015 को जौनपुर नगर पालिका में आवेदन देकर बनवाया गया था। मामला संदिग्ध लगा तो आरिफ ने नौबस्ता थाने में इसकी शिकायत की। डीजीपी ने कार्रवाई करते हुये कानपुर पुलिस की एक टीम को जौनपुर भेजा। निर्देश दिया की ज़फर के शव को कब्र से निकालकर उसका पोस्टमॉर्टम कराया जाएगा। अब पीड़ित परिवार वालों को रिपोर्ट आने का इंतजार है। पीडि़त परिवार को कब्र से निकली लाश के पोस्टमार्टम से मौत का सच सामने आने की पूरी उम्मीद है। इस रिपोर्ट के बाद पत्नी नफीस फात्मा का भी सच सबके सामने आ सकेगा।

loading...
शेयर करें