कर्नाटक में सिद्धरमैया नहीं, ये दिग्‍गज नेता सीएम की लिस्‍ट में निकला सबसे आगे

कर्नाटकबेंगलुरू। कर्नाटक में हुए विधानसभा चुनाव के परिणाम मंगलवार को आएंगे। इससे पहले आज कांग्रेस पार्टी के एक दिग्‍गज नेता ने अपने मुख्‍यमंत्री उम्‍मीदवार को लेकर एक बड़ा संकेत दिया है। दरअसल कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता और लोकसभा में पार्टी के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे यह संकेत दिए हैं कि अगर कर्नाटक में कांग्रेस पार्टी की जीत होती है तो भी सिद्धरमैया पार्टी की ओर से सीएम नहीं रहेंगे।

आपको बता दें कि अभी तक खबरें चल रही थीं कि अगर कांग्रेस पार्टी बहुमत हासिल नहीं कर पाती है तो किसी दलित नेता को मुख्‍यमंत्री बनाया जाएगा। यही नहीं इस पर सिद्धरमैया ने भी अपनी कुर्सी छोड़ने के लिए हामी भर दी थी। लेकिन अब पार्टी के ही वरिष्‍ठ नेता ने ऐसे संकेत देकर कर्नाटक की राजनीति में एक नया तूफान खड़ा कर दिया है।

हालांकि खड़गे ने अपने इस बयान को एक समाचार एजेंसी के साथ बात करते हुए सिरे से नकार दिया है। उनका कहना है कि मीडिया के लोग कांग्रेस नेताओं के बीच मनमुटाव पैदा करना चाहते हैं। जब उनसे सिद्धरमैया के इस बयान पर प्रतिक्रिया पूछी गई तो उन्होंने कहा कि यह विवाद मीडिया में पैदा किया गया है ताकि हमारे बीच मनमुटाव हो। हमलोग इस मुद्दे पर स्पष्ट राय रखते हैं कि चुनाव नतीजे आने के बाद पार्टी आलाकमान ही इस पर फैसला करेगी। आप लोग सिर्फ 12 घंटे और इंतजार कीजिए।

वहीं दूसरी ओर खड़गे के इस बयान से यह भी साफ है कि अगर चुनाव नतीजे पक्ष में आते हैं तो भी पार्टी नेतृत्व ही तय करेगा कि अगला सीएम कौन होगा? बता दें कि कर्नाटक के सीएम सिद्धरमैया ने रविवार (13 मई) को कहा था कि वो दलित सीएम के लिए पद छोड़ सकते हैं। इसके बाद इस पर कयास लगाए जाने लगे कि राज्य में कांग्रेस की ओर से कौन सा दलित चेहरा सीएम हो सकता है।

बता दें कि मल्लिकार्जुन खड़गे का नाम भी उस लिस्ट में सबसे आगे चल रहा है। खड़गे 2013 के चुनावों के वक्त भी सीएम की रेस में थे लेकिन बाजी सिद्धरमैया ने मार ली थी। कर्नाटक में 12 मई को 222 सीटों पर चुनाव हुए थे। 70 फीसदी मतदाताओं ने वोटिंग की थी। इसके नतीजे मंगलवार (15 मई) को आएंगे।

Related Articles