पीएम मोदी ने सेना को दी इजाजत, कश्मीर में आतंकियों को घर में घुसकर मारो

2

नई दिल्ली। कश्मीर घाटी में आतंकवादी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन के कमांडर बुरहान वानी की मौत के बाद कश्मीर में भड़की हिंसा थमने का नाम नहीं ले रही। शुक्रवार को भी विरोध प्रदर्शन जारी रहे और प्रदर्शनकारियों के बीच घुसे एक आतंकवादी द्वारा की गई गोलीबारी में एक पुलिसकर्मी की मौत हो गई। इससे पहले पीएम मोदी ने सेना को निर्देश दिए थे कि अगर कोई माहौल बिगाड़ता है तो उसे बख्‍शा नहीं जाए।

कश्मीर में भड़की हिंसा

कश्मीर में भड़की हिंसा की वजह से इंटरनेट भी बंद

कश्मीर में भड़की हिंसा के चलते इंटरनेट सेवाएं भी बंद कर दी गई हैं। लेकिन इसके बावजूद माहौल तनावपूर्ण बना हुआ है। यहां के अलगाववादी नेता लोगों को जिहाद की जंग के नाम पर भड़का रहे हैं। आपको बता दें कि इससे पहले मणिपुर में भी भारतीय सैनिकों पर हुए हमले के बाद पीएम मोदी ने सेना को खुली छूट दे दी थी कि देश के अंदर घुसकर आतंकियों को मार गिराओ।

मणिपुर में पीएम मोदी के निर्देशों के बाद सेना ने म्‍यांमार की सीमा में घुसकर कई आतंकियों को मार गिराया था। वहीं अब खबरों के मुताबिक ऐसी ही कार्रवाई पाकिस्‍तान पर भी हो सकती है। आज केन्द्रीय गृहमंत्री और सुरक्षा एजेंसियों की भी बैठक हुई है। बताया जा रहा है कि इस हमले के लिए ब्‍लूप्रिंट तैयार करने का जिम्‍मा एनएसए अजीत डोभाल को मिला है। अजीत डोभाल ने म्‍यांमार में सेना के ऑपरेशन का भी ब्‍लूप्रिंट तैयार किया था।

अब तक 41 की मौत

बुरहान वानी के आठ जुलाई को मारे जाने के बाद से लेकर अबतक सड़कों पर प्रदर्शनकारियों व सुरक्षाबलों के बीच झड़पों में 41 से अधिक लोग मारे जा चुके हैं, जबकि सैकड़ों लोग घायल हुए हैं। इस बीच अलगाववादी संगठनों ने बंद की अवधि सोमवार तक के लिए बढ़ा दी है। अलगाववादियों ने लोगों का आह्वान किया है कि वे नागरिकों की सुरक्षा बलों द्वारा की जा रही हत्याओं के खिलाफ सड़कों पर उतरें।

loading...
शेयर करें

2 टिप्पणी

  1. सब जानते है। कि कौन करवा रहा है फिर क्यों हम नकली नकाब के शरीफ को बख्स दें। देना हे मुँह तोड़ जवाब – दम रखते है। हमण् लाल बहादुर शास्त्री के बाद छप्पन इंच सीना किसका है इतिहास लिखेगा