कश्मीर में लड़कियों को पटाने के लिए लड़के बन रहे हैं आतंकी

0

नई दिल्ली। सुरक्षा एजेंसियों ने हाल ही में बड़ी कार्रवाई करते हुए आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन से जुड़े दानिश के करीबी 10 कश्मीर के स्टूडेंट्स को चिन्हित कर लिया है। दरअसल, दानिश ने बुधवार को सेना व पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया था, जिसके बाद से यह मामला देशभर में काफी सुर्खियां बटोर रहा है। इसी के बाद सुरक्षा एजेंसियां देहरादून में दानिश से जुड़े 10 कश्मीरी स्टूडेंट्स को ढूंढ रही थी।

कश्मीर

कश्मीर के 10 स्टूडेंट्स को किया चिन्हित

इस कामयाबी के बाद सेना के सामने एक बड़ा खुलासा हुआ है। खबर है कि आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन में लड़के सिर्फ इसलिए भर्ती हुए क्योंकि उन्हें लड़कियां पटानी थीं। यही नहीं, दानिश ने यह भी खुलासा किया है कि इस संगठन में कई लड़के ऐसे भी हैं जो सरेंडर करना चाहते हैं।

लेकिन उन लड़कों पर संगठन पर अपना दबाव बना रहा है। संगठन छोड़ने और सरेंडर करने पर संगठन वाले लड़कों को जान से मार डालने की धमकी दे रहे हैं। बताया जा रहा है कि दानिश को सबसे पहले नॉर्थ कश्मीर के स्थानीय लड़कों को आतंक की राह पर लाने का काम सौंपा गया था क्योंकि आतंकी चाहते थे कि नॉर्थ कश्मीर में भी साउथ कश्मीर की तरह ही आतंक फैले।

यह भी पढ़ें : जीजा ने साली को बनाया अपनी हवस का शिकार, वीडियो सोशल मीडिया पर किया वायरल

आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन से ताल्लुक रखने वाले दानिश ने पूछताछ के दौरान और भी कई खुलासे किए हैं। उसने बताया कि संगठन में लड़कों को लड़कियों को पटाने के लिए भर्ती किया जाता था। इसलिए वो संगठन नहीं छोड़ पा रहे हैं। वहीं, कई लड़के तो डर के मारे संगठन नहीं छोड़ पा रहे हैं।

loading...
शेयर करें