मोदी से मुलाकत के बाद बोलीं महबूबा मुफ्ती, 2-3 महीनों में करेंगे स्थिति को नियंत्रित

0

नई दिल्‍ली। कश्‍मीर की मुख्‍यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने सोमवार को पीएम मोदी से कश्‍मीर हालात पर मुलाकात की। महबूबा मुफ्ती ने बताया कि राज्‍य के हालात और गठबंधन को लेकर बातचीत हुई। इसके अलावा दोनों ने कश्‍मीर के हल निकालने पर उम्‍मीद जताई। कश्‍मीर की सीएम ने कहा पूर्व पीएम वाजपेयीजी की नीति से ही इस मुद्दे का हल निकालना चाहिए।

कश्‍मीर की मुख्‍यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने हालात को लेकर जताई चिंता

कश्‍मीर की मुख्‍यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने दावा किया कि उनकी सरकार घाटी में 2-3 महीने में स्थिति को नियंत्रित कर लेगी। उन्होंने कहा कि हम चीजें बदल लेंगे। महबूबा ने पीएम मोदी और गृह मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात के बाद ये बयान दिया. उन्होंने कहा कि 2-3 महीने के समय में अलगाववादी के साथ बातचीत संभव है। उन्होंने कहा कि बंदूकें और पत्थरों की छाया में कोई बातचीत नहीं हो सकती है, लेकिन घाटी की स्थिति में सुधार होने पर अलगाववादियों के साथ बातचीत हो सकती है।

‘पत्थरबाजों को उकसाया जा रहा’

पत्थरबाजी के मुद्दे पर भी महबूबा की पीएम मोदी से बातचीत हुई। मुफ्ती ने कहा कि पत्थरबाजों को उकसाया जा रहा है। पत्थरबाजी और गोली के बीच बातचीत नहीं हो सकती. वहीं राज्य में राज्यपाल शासन लगाने के सवाल पर महबूबा ने कहा कि ये केंद्र से पूछा जाना चाहिए।

बातचीत शुरू करने के पक्ष में महबूबा

महबूबा मुफ्ती ने कश्मीर में बातचीत शुरू करने का समर्थन किया। महबूबा महबूबा मुफ्ती ने कहा कि उन्होंने पीएम मोदी ने अपील की कि जहां तक वाजपेयी जी ने कोशिश की थी उसके आगे बढ़ना चाहिए। इसके लिए आगे माहौल बनाना होगा।

‘गठबंधन पर सुलझाएंगे मतभेद’

पीएम मोदी से मिलने के बाद कश्मीर में गठबंधन को लेकर जारी अटकलों पर भी विराम लग गया है। महबूबा मुफ्ती ने कहा कि गठबंधन को लेकर मतभेद सुलजाने पर काम होगा। राष्ट्रपति शासन लगाने का फैसला केंद्र को लेना है। इस बीच बीजेपी का भी बयान आया है कि राज्य में गठबंधन सही दिशा में काम कर रहा है।

दिल्ली में हाईलेवल मीटिंग

इस बीच, गृह मंत्रालय में कश्मीर के हालात को लेकर उच्च स्तरीय बैठक भी हुई। गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कश्मीर के हालात को लेकर राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार, डायरेक्टर आईबी, गृह सचिव के साथ राज्य के हालात पर चर्चा की।

loading...
शेयर करें