कांग्रेस नेता का खुलासा, ‘2012 में सेना के दिल्ली कूच की खबर सच थी’

नई दिल्‍ली पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह पर गंभीर आरोप लगाए हैं। मनीष तिवारी ने साल 2012 में सेना के दिल्ली कूच करने की खबर को सही बताया है। कांग्रेस नेता का ये बयान विदेश राज्यमंत्री और उस समय आर्मी चीफ रहे वीके सिंह के लिए मुसीबत खड़ी कर सकता है।

कांग्रेस

कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने बुक लांच के दौरान बताया

शनिवार को एक बुक लॉन्च के दौरान जब एक सज्जन ने तिवारी से 2012 में एक अंग्रेजी अखबार की खबर और सत्यता के बारे में सवाल किया तो उन्होंने इसपर जवाब दिया कि उस समय मैं रक्षा मंत्रालय की स्टैंडिंग कमिटी का सदस्य था। दुर्भाग्यवश वह खबर सही थी। ऐसा वाकई हुआ था। यह सही खबर है। मनीष तिवारी अप्रैल 2012 में तो मंत्री नहीं थे लेकिन अक्टूबर 2012 में सूचना प्रसारण मंत्री बनाए गए थे।

क्‍या था मामला?

2012 में अंग्रेजी अखबार ‘द इंडियन एक्सप्रेस’ ने दावा किया था कि सरकार की बिना इजाजत के फौज की दो टुकड़ियां दिल्ली की तरफ बढ़ीं थीं। उस वक्त सरकार ने ऐसी खबरों को खारिज किया था और तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा था कि अगर ऐसा है तो यह गंभीर मसला है। अंग्रेजी अखबार ने खुलासा किया था कि 16 जनवरी 2012 की कड़कड़ाती ठंड वाली रात को इंडियन आर्मी की 2 टुकड़ी दिल्ली की ओर बढ़ रही थी। इनमें से एक हिसार में तैनात इन्फैंट्री यूनिट थी और दूसरी आगरा में मौजूद 50 पारा ब्रिगेड थी। सबसे हैरान करने वाली बात यह है कि सरकार को सेना की इस गतिविधि की कोई जानकारी नहीं थी।

कांग्रेस

क्‍या कहा मनीष तिवारी ने?

मनीष तिवारी ने कहा कि नियम के अनुसार, सेना की टुकड़ी एक जगह से दूसरी जगह ले जाने से पहले पहले सरकार को सूचित किया जाता है। लेकिन इस मामले में ऐसा नहीं किया गया। हिसार से 33वीं आर्म्‍स डिवीजन की एक यूनिट बहादुरगढ़ के इंडस्ट्रियल पार्क तक पहुंच गई थी।  इस यूनिट में 48 बख्‍तरबंद लड़ाकू वाहन शामिल थे।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button