कानपुर पुलिस अब लोगों को देगी एक और ट्रीटमेंट

कानपुर। दुर्घटनाओं में घायलों को तत्काल फर्स्ट एड देने के लिए अब यह जिम्मा कानपुर पुलिस को सौंपा जा रहा है। इसके लिए उन्हें बाकायदा ट्रेनिंग भी दी जा रही है। इससे जहाँ घायलों को दुर्घटना स्थल पर ही शुरुआती इलाज मिल सकेगा तो वहीं कानपुर पुलिस की भी छवि सुधरेगी। ट्रेनिंग पूरी होते ही कुछ ही दिनों में कानपुर पुलिस कर्मी इलाज करते नजर आएंगे। पुलिस को इस शुरुआती इलाज की ट्रेनिंग मानव प्रशिक्षण संस्थान के ट्रेनर दे रहे हैं। इस प्रोजेक्ट के नोडल अधिकारी एसपी पूर्वी देव रंजन को बनाया गया है। शहर के सभी 44 थानों के मुंशियों को छोड़कर सभी कानपुर पुलिस कर्मी व होमगार्ड ट्रेनिंग ले रहे हैं। दो थानों मूलगंज व बादशाहीनाका के पुलिस कर्मियों की ट्रेनिंग हो चुकी है।

Kanpur-Police-Station-p

कानपुर पुलिस ऐसे करेगी इलाज

 

पुलिस कर्मियों को ट्रेनिंग देने वाले ट्रेनर लखन शुक्ला ने बताया कि फर्स्ट एड का ऐसा प्रशिक्षण पहली बार पुलिस कर्मियों को दिया जा रहा है। इसमें घायल के बह रहे खून को रोकना, अगर फ्रैक्चर हुआ तो किस तरह स्पिलिन्ट (खपच्ची) बांधना है। कैसे मरहम व पट्टी करनी है। इसके अलावा मौके पर पड़े घायलों को कैसे स्ट्रेचर व एम्बुलेंस या अन्य वाहन में रखना आदि सिखाया जा रहा है। साथ ही अचेत व्यक्ति की साँस की आवाज सुनना, दिल में हाथ रखकर धड़कन देखना और यदि व्यक्ति जिन्दा है तो उसे किस सावधानी से अस्पताल भेजना है, आदि जानकारी दी जा रही है। ट्रेनिंग लेने वाले हर पुलिसकर्मी को रेड क्रास की ओर से सर्टिफिकेट भी दिया जा रहा है।

यह है टाइमिंग

 

सभी थानों के पुलिस कर्मियों की ट्रेनिंग एक साथ ही होती है। इसके लिए रात 9 से 11 का समय तय किया गया है। जिस दिन थाने की ट्रेनिंग होती है। उस दिन थाने को सम्भालने के लिए क्यूआरटी (क्विक रिस्पॉन्स टीम) लगा दी जाती है। साथ ही आसपास के थानों को भी एलर्ट कर दिया जाता है।

घायलों की बचेगी जान

 

पुलिस की इस नई पहल जहाँ उसकी छवि तो सुधरेगी, साथ ही ऐसे घायलों को जिंदगी भी मिलेगी जो अस्पताल तक का रास्ता तय करने में बिना इलाज के दम तोड़ देते हैं। नोडल अधिकारी एसपी पूर्वी देवरंजन का कहना है कि मौके पर अगर घायल को इलाज मिल जायेगा तो उसकी जान बच सकती है। इसी को ध्यान में रखते हुए पुलिस कर्मियों को फर्स्ट एड की ट्रेनिंग दी जा रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button