कानपुर में लूट, दिन दहाड़े साढ़े चार लाख ले उड़े बदमाश

0

कानपुर। कानपुर में लूट। लगता है कि लुटेरों की संख्या ज्यादा और पुलिस कम हो गयी है। जिसके चलते लुटेरे खुलेआम लूट की घटनाओं को अंजाम दे रहे है और पुलिस उनको पकड़ तक नहीं पा रही है। गोल चौराहा स्थित जच्चा-बच्चा अस्पताल के सामने दिनदहाड़े बाइक सवार लुटेरों ने बैंक से पैसा निकालकर वापस लौट रहे असिस्टेंट एकाउंटेंट से चार लाख 40 हजार की रकम लूट ली। लूटपाट के बाद बाइक सवार लुटेरे रावतपुर की ओर भाग निकले। सूचना पर पहुंची पुलिस ने बदमाशों की तलाश करायी, लेकिन कोई लुटेरों का कहीं पता नहीं चल सका।

कानपुर में लूट

कानपुर की ही विष्णुपुर कालोनी में रहने वाले अखिलेश श्रीवास्तव विकास नगर स्थित एक प्राइवेट लिमिटेड फर्म में असिस्टेंट एकाउंटेंट है। उन्होंने बताया कि फरवरी की माह की शुरुआत होने पर आज फर्म में सैलरी बांटनी थी। जिसके चलते वह एकाउंट मैनेजर अजय कटियार के साथ संतनगर स्थित केनरा बैंक से कैश निकालने गये। बैंक से वह करीब 4 लाख 40 हजार रुपये निकाल कर वापस लौट रहे थे। गोल चौराहा स्थित जच्चा-बच्चा अस्पताल के पास पहुंचे ही थे कि पीछे से आए बाइक सवार लुटेरों ने नोटों से भरा बैग लूट लिया और रावतपुर की ओर भाग निकले।

उन्होंने लुटेरों का पीछा किया लेकिन पकड़ नहीं पाए। उन्होनें आनन-फानन में पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने पीडि़तों की निशानदेही पर लुटेरों की तलाश करायी, लेकिन कोई सफलता हाथ नहीं लगी।

कानपुर में लूट, पुलिस कहां

खास बात तो यह रही कि जिस समय कानपुर में लूट की वारदात हुई है उस समय डीएम कौशल राज शर्मा और एसएसपी शलभ माथुर कल्यानपुर में थे। जहा वह इंस्पेक्टर संतोष कुमार सिंह को थाने में खड़ी बेगारी की गाडि़या व सब्जी मंडी को हटाने के निर्देश दे रहे थे। जबकि सीओ स्वरुपनगर ने बताया कि वह चौबेपुर गांव में चुनाव की ड्यूटी में है, थाने पहुंचकर मामले की जानकारी हो सकेगी।

loading...
शेयर करें