कापू आंदोलन में फूटा गुस्सा, रत्नांचल एक्सप्रेस की 8 बोगियां फूंकी

0

आंध्र प्रदेश का कापू आंदोलन उग्र हो गया है। आरक्षण की मांग कर रहे प्रदर्शनकारियों ने रत्नांचल एक्सप्रेस की आठ बोगियां फूंक दी गईं। इससे पहले तुनि रेलवे स्टेशन पर उग्र प्रदर्शनकारियों ने जमकर पत्थरबाजी की, जिसमें दो लोगों घायल हुए।

कापू आंदोलन

कापू आंदोलन की आग

आंध्र प्रदेश के पूर्वी गोदावरी जिले में भड़के कापू समुदाय के दौरान ट्रेन की बोगियां जलाने के बाद भीड़ ने तुनि ग्रामीण पुलिस स्टेशन में आग लगा दी। हादसे में कई पुलिसवाले घायल हो गए। इनमें से एक पुलिस कॉन्स्टेबल की हालत गंभीर है। आंदोलनकारियों ने पुलिस के दो वाहनों समेत आठ गाड़ियों को भी फूंक दिया। बताया जा रहा है कि प्रदर्शनकारियों ने चेन्नई-कोलकाता रेलवे नेटवर्क को भी जाम कर दिया है। रविवार दोपहर बाद आंदोलनकारियों ने रेलवे स्टेशन को निशाना बनाया। हालांकि रत्नांचल एक्सप्रेस में जिस वक्त आग लगाई गई, उस वक्त ट्रेन में ज्यादा यात्री नहीं थे, इस‍ीलिए किसी की जान नहीं गई।

कापू आंदोलन का कारण

कापू समुदाय के लोग पिछड़ा वर्ग में आरक्षण की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं। अभी इस समुदाय की गिनती अगड़ी जातियों में की जाती है। बीते साल आंध्र प्रदेश की सरकार ने कापू समुदाय को पिछड़ा वर्ग में शामिल किए जाने की घोषणा की थी। इसके लिए समिति बनाकर पिछड़ा वर्ग में आरक्षण के अनुपात का अध्ययन करने को कहा गया था। सरकार ने इस समुदाय के लिए उपलब्ध कराई जाने वाली आरक्षण के मुद्दे का अध्ययन करने के लिए एक आयोग गठित करने का भी फैसला किया है। लेकिन इस बीच खबरें आ रही थीं कि आरक्षण नहीं मिलेगा। इसी वजह से आंदोलन भड़क उठा।

loading...
शेयर करें