कांग्रेस की अगुवाई में विपक्षी दलों ने मनाया काला दिवस

0

नई दिल्ली। पीएम मोदी के पुराने नोट बंद करने वाले फैसले से लोगों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। पुराने नोटबंदी का आज 30वां दिन है। पैसे के लिए बैंक के बाहर लंबी कतार लगी हुई है। वहीं अभी तक कैश की परेशानी दूर नहीं हुई है। अब इस मामले में विपक्ष दोनों सदनों में हंगामा जारी है वहीं संसद में विपक्षी पार्टियां आज काला दिवस मनाया।

काला दिवस

संसद में विपक्ष मनाएगा काला दिवस  

नोटबंदी पर संसद के दोनो सदनों में आज विपक्ष का हंगामा जारी रह सकता है। बुधवार को सरकार और विपक्ष के नेताओं के बीच गतिरोध खत्म करने के लिए बातचीत भी हुई। विपक्षी दल आज सुबह 9.30 फिर बैठक करेंगे जिसमे आगे का रुख तय किया जाएगा। उधर विपक्ष ने यह भी घोषणा की है कि नोटबंदी का एक महीना पूरा होने पर विपक्षी दल आज संसद में काला दिवस मनाएंगे। विपक्षी दलों के सांसद काली पट्टी बांधकर विरोध दर्ज कराएंगे।

नोटबंदी के मुद्दे पर लोकसभा में सोमवार को नियम 193 के तहत शुरू हुई चर्चा बुधवार को भी आगे नहीं बढ़ पाई। विपक्ष लोकसभा में मतविभाजन के प्रावधान वाले नियम के तहत बहस कराने की मांग कर रहा है। राज्यसभा में आज पीएम मोदी मौजूद रहेंगे। नोटबंदी पर राज्यसभा में शुरु हुई चर्चा आज शुरु हो सकती है।

बता दें कि विपक्ष लगातार मांग कर रहा है कि नोटबंदी के चर्चा के दौरान पीएम राज्यसभा में मौजूद रहें और चर्चा पर जवाब दें। हालांकि सराकर पहले ही पीएम द्वारा माफी मांगे जाने की विपक्ष की मांग को खारिज कर चुका है। वित्त मंत्री जेटली ने भी बुधवार को विपक्ष को चुनौती देते हुए कहा कि चर्चा करा ली जाए सरकार हर बात का जवाब देने के लिए तैयार है।

नहीं निकाल सकते अपना ही पैसा

नकदी की कमी से जूझ रहे हैं बैंकों ने निकासी के लिये स्वयं से सीमा लगायी है। इसके तहत कुछ मामलों में ग्राहकों को 2,000 रूपये तक ही निकालने की अनुमति दी जा रही है जबकि रिजर्व बैंक ने प्रति सप्ताह 24,000 रपये की सीमा तय की हुई है। हालांकि रिजर्व बैंक का कहना है कि नोट की पर्याप्त आपूर्ति है और लोगों से नई मुद्रा घरों में जमा नहीं करने को कहा है। बता दें कि पीएम मोदी के नोटबंदी वाले फैसले से कई लोगों की जान चली गई।

loading...
शेयर करें