किंगफ़िशर एयरलाइन्स के मालिक विजय माल्या को देश लाने की कोशिश तेज

0

नई दिल्ली। नौ हजार करोड़ रुपए के कर्जदार और देश से फरार किंगफ़िशर एयरलाइन्स के मालिक विजय माल्या को देश लाने की कोशिश तेज हो गई है। गुरुवार को सरकार ने ब्रिटेन को लेटर लिख कर माल्या के बारे में जानकारी मांगी है। खबर मिली है की विदेश मंत्रालय ने ब्रिटेन हाई कमीशन को लेटर लिखा है। मंत्रालय पहले ही माल्या का पासपोर्ट रद्द कर चुका है। विजय माल्या का डिप्लोमैटिक पासपोर्ट रद्द हो चुका है।

किंगफ़िशर एयरलाइन्स के मालिक विजय माल्या

किंगफ़िशर एयरलाइन्स के मालिक विजय माल्या का रद्द हो चुका है पासपोर्ट

किंगफ़िशर एयरलाइन्स के मालिक विजय माल्या के डिप्लोमैटिक पासपोर्ट को पिछले हफ्ते रद्द किया जा चुका है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने ट्वीट कर पासपोर्ट रद्द करने की जानकारी दी थी। इससे पहले माल्या को राज्यसभा मेंबर होने के नाते मिले डिप्लोमैटिक पासपोर्ट की वैलिडिटी चार हफ्तों के लिए सस्पेंड कर दी गई थी।

विजय माल्या को गिरफ्तार करने को इंटरपोल से मांगी मदद

इस बीच, ईडी के सूत्रों ने कहा है कि माल्या को अरेस्ट करने की प्रॉसेस आगे बढ़ाने के लिए वह जल्द ही इंटरपोल से कॉन्टैक्ट करेगा। ईडी विजय माल्या को तीन समन भेज चुका है। लेकिन वे हर एक भी बार पेश नहीं हुए हैं। ये समन 18 मार्च, 2 और 9 अप्रैल को भेजे गए थे।

विजय माल्या के खिलाफ एक्शन तय

सांसद और शराब कारोबारी विजय माल्या को राज्यसभा से बाहर किया जाना तय हो गया है। उन पर बकाया कर्ज मामले पर गौर कर रही एक संसदीय कमेटी ने सोमवार को एक्शन का सपोर्ट किया। माल्या की कंपनी किंगफिशर एयरलाइंस पर बैंकों का 9,432 करोड़ रुपए का कर्ज बकाया है। इसी के साथ कांग्रेस नेता कर्ण सिंह की अगुवाई  वाली राज्यसभा की कंडक्ट कमेटी ने माल्या को उनके बिहेवियर के बारे में सफाई के लिए हफ्ते भर का वक्त दिया है। अगली मीटिंग तीन मई को होगी। इससे पहले रविवार को सरकार ने माल्या का पासपोर्ट कैंसल कर दिया था। दो मार्च को भारत छोड़ने के बाद से माल्या ब्रिटेन में हैं।

loading...
शेयर करें