किडनैपिंग कांड: तीनों सगी बहनें वापस लौट आईं घर

0

लखनऊ। लखीमपुर के सिंगाही में शनिवार रात हुए किडनैपिंग कांड में तीनों सगी  बहनों को बरामद कर लिया गया है। एसटीएफ के 48 घंटे के ऑपरेशन के बाद तीनों को सकुशल बरामद किया गया है। लखीमपुर एसपी अखिलेश चौरसिया ने किडनैपिंग कांड खबर की पुष्टि की है। हालांकि, अभी उन्‍होंने इस बात का खुलासा नहीं किया है कि लड़कियों को कहां से बरामद किया गया। वहीं इस मामले में पुलिस ने व्यापारी के पिता से फिरौती की रकम दिला दी। किडनैपिंग कांड में  पुलिस की भूमिका संदिग्ध होने पर सीओ और थानाप्रभारी को निलंबित कर दिया गया है लेकिन अभी इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुयी है। एसटीएफ किडनैपिंग कांड की पड़ताल में जुटी है। वहीं, एएसपी अखिलेश चौरसिया ने फिरौती दिए जाने को नकारते हुए बताया कि बेटियों को सकुशल बरामद करके घर भेज दिया गया है। बदमाशों की तलाश की जा रही है।

किडनैपिंग कांड

किडनैपिंग कांड का ये है पूरा मामला

 

लखीमपुर खीरी जनपद के खैरीगढ़ गांव में कोल्हू व्यापारी रामबली गुप्ता की तीन बेटियों का बदमाशों ने रविवार को अपहरण कर लिया था। बताया जा रहा था कि रामबली और उनका बेटा किशन किसी काम से बाहर गए हुए थे। इसी दौरान रात करीब 11 बजे 6 बदमाश रामबली के घर घुस आये। इन बदमाशों ने घर में मौजूद रामबली की पत्नी मुन्नी देवी, नौकरानी तारा देवी और रामबली की तीनों बेटियों उपमा, रोहिणी, संतोषी को असलहा दिया कर रामबली के बारे में पूछा और अन्य कमरों में जा कर तलाशी ली। जब रामबलि नही मिले तो बदमाशों ने आनन फानन में अपने वाहन को स्टार्ट किया और रामबलि की तीनों बेटियों को उठा लिया। इसके बाद सभी फरार हो गये। इसके बाद बदमाशों ने पचास लाख रूपये की फिरौती की मांग की थी।

फिरौती मांगने के बाद से बंद था मोबाइल

 

घटना की जानकारी होने पर पिता ने तुरंत किडनैपर्स के खिलाफ आईपीसी के सेक्शन 364-ए के तहत केस दर्ज कराया। फिरौती के लिए किडनैपर्स ने रविवार सुबह बिजनेसमैन की बड़ी बेटी के मोबाइल से फोन किया था। लखीमपुर खीरी के सीओ मोहम्मद इब्राहिम ने बताया था, फिरौती मांगने के बाद से लड़की का मोबाइल बंद था। टीम दुधवा के जंगल में सर्च ऑपरेशन चला रही थी। इसी दौरान सीएम अखिलेश यादव ने भी पीड़ित परिवार से बात कर लड़कियों को सुरक्षित वापस लाने का भरोसा दिया था।

पुलिस को किस पर है शक

 

पुलिस सूत्रों के मुताबिक किडनैपिंग करने का मुख्य आरोपी गैंगस्टर बग्गा सिंह था। बग्गा सिंह पर 50 हजार रुपए का इनाम घोषित है। बताया जा रहा है कि 2013 में वह एक कॉन्स्टेबल का मर्डर कर पुलिस कस्टडी से भाग गया था। इससे पहले लखीमपुर एसपी अखिलेश चौरसिया ने बताया था, “तीन संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है। मामले में बग्गा सिंह नाम के क्रिमिनल पर शक है। जानकारी के मुताबिक वह नेपाल में छिपा है। पुलिस ने अपनी जांच शुरू कर दी है।

loading...
शेयर करें