महासंघ के कुछ सदस्य मुझे हटाने की साजिश में शामिल : किरसन

0

मॉस्को। अंतर्राष्ट्रीय शतरंज महासंघ (एफआईडीई) के अध्यक्ष किरसन इलयुम्जिनोव ने बुधवार को आरोप लगाया कि महासंघ के कार्यकारी निदेशक नाइजेल फ्रीमैन और उपाध्यक्ष जॉर्जियस मैक्रोपोलोस ने महासंघ के भीतर ही तख्तापलट की कोशिश की है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सोमवार को महासंघ की आधिकारिक वेबसाइट पर किरसन के संभावित इस्तीफे पर एक बयान जारी किया गया था।

किरसन इलयुम्जिनोव

किरसन इलयुम्जिनोव ने संगठन की परिषद बैठक में अपने इस्तीफे का किया ऐलान

इस बयान में कहा गया था कि अध्यक्ष किरसन ने 26 मार्च को एथेंस में संगठन की परिषद बैठक में अपने पद से इस्तीफे का ऐलान किया। लेकिन, किरसन ने अपने इस्तीफे की सभी रिपोर्ट को खारिज किया।  किरसन ने कहा, “मैंने नाइजेल से इस बयान को रद्द करते हुए प्रतिक्रिया में एक संदेश जारी करने की मांग की थी। मैंने उन्हें पत्र भी लिखा और फोन भी किया।”

किरसन ने कहा, “लेकिन, उन्होंने अपना फोन बंद कर दिया। यही घटना जॉर्जियस के साथ संपर्क की कोशिश के बाद हुई। हालांकि, मैं जानता था कि वह एफआईडीई के मुख्यालय में ही रहते हैं।” किरसन ने कहा कि उन्होंने महासंघ सचिवालय से भी संपर्क की कोशिश की, लेकिन वहां से भी उन्हें नजरअंदाज किया गया और इस स्थिति से संबंधित उनके पत्र पर भी जॉर्जियस ने गौर नहीं फरमाया और न ही इसे आधिकारिक वेबसाइट पर जारी किया गया।

किरसन का बयान मंगलवार को एफआईडीई की वेबसाइट पर जारी किया गया। इसके जवाब में नाइजेल ने किरसन को याद दिलाया कि उन्होंने एथेंस की बैठक में कमरे से बाहर निकलने से पहले तीन बार कहा था ‘मैं इस्तीफा दे रहा हूं।’ मॉस्को में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए करसन ने कहा कि उनका अमेरिका प्रतिबंधों के कारण इस्तीफा देना का कोई विचार नहीं है। ये प्रतिबंध उनके खिलाफ लगाए गए हैं।

नवम्बर, 2015 में अमेरिका के राजकोष विभाग ने यह कहकर करसन पर प्रतिबंध लगाया था कि वह सीरिया सरकार, सीरिया के केंद्रीय बैंक का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं और उसकी सहायता कर रहे हैं।

loading...
शेयर करें