मेडिकल स्टोर खोलने के पीएम मोदी देंगे 2.5 लाख, ऐसे उठा सकते हैं इसका लाभ

0

नई दिल्ली। बढ़ते बेरोजगारी को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार ने जनता को एक शानदार तोहफा दिया है। जी हां प्रधानमंत्री जनऔषधि योजना के तहत सस्ती दवाइयों की दुकान खोलने के लिए सरकार 2.5 लाख रुपए की सहायता देती है। जो यह सहायता रीइंबर्समेंट बेसिस पर होगी। जैसा की आपको बता दें ये सहायता पहले स्टेट गवर्नमेंट द्वारा नॉमिनेटेड एजेंसियों को ही 2.5 लाख रुपए ग्रांट मिल रहा था, लेकिन सरकार ने अब यह नियम सबके लिए कर दिया है।

केंद्र सरकार

केंद्र सरकार ने दिया शानदार तोहफा

जिससे सस्ती दवाइयों की दुकान खोलना अब आपके लिए पहले से ज्यादा असं और मुनाफे का सौदा हो गया है। वहीं सरकार ने सभी दुकानदारों को अपने यहां उपलब्ध क्वालिटी जेनेरिक दवाओं को रखने की अनुमति दे दी है। अभी तक ये दवाएं वही दुकानदार रख सकता था, जो सरकार की ओर से उन्हें उपलब्ध कराया जाता था। बीपीपीआई के एक वरिष्‍ठ अधिकारी ने कहा कि एक बार 3000 केंद्र खोलने का टारगेट पूरा हो जाता है तो प्राइवेट रिटलेर्स के लिए कुछ और सुविधाएं मसलन उनका कमीशन बढ़ाया जा सकता है।

ऐसे खोल सकते हैं  जनऔषधि सेंटर

दरअसल जनऔषधि सेंटर खोलने वालों के लिए कैटेगरी में बांट दिया गया है जिसमे से पहली कैटेगरी  में वो लोग आते हैं जो,  बेरोजगार फार्मासिस्ट, डॉक्टर, रजिस्टर्ड मेडिकल प्रैक्टिशनर हैं वहीं व्यक्ति स्टोर खोल सकता है। वहीं दूसरी कैटेगरी में उसे रखा गया है जो  ट्रस्ट, एनजीओ, प्राइवेट हॉस्पिटल, सोसायटी और सेल्फ हेल्प ग्रुप में हो। तीसरी कैटेगरी में राज्य सरकारों द्वारा नॉमिनेट की गई एजेंसी ही स्टोर खोल  स्टोर खोल सकता है।

मंथली सेल पर इंसेंटिव देगी सरकार

स्टोर खोलने के लिए आपके दुकान का लगभग एरिया लगभग120 वर्गफुट एरिया में होना अनिवार्य है। इसके साथ ही मंथली सेल पर दुकानदारों का कमिशन बढ़ाकर 20 फीसदी तय किया हुआ है। वहीं ट्रेड मार्जिन के अलावा सरकार मंथली सेल पर 10 फीसदी इंसेंटिव देगी, जो आपके बैंक अकाउंट में आ जाएगा। इस तरह से दुकानदार को कम से कम 2 साल तक ट्रेड मार्जिन के अलावा इंसेटिव के रूप में डबल मुनाफा होगा। जैसा की आपको बता दें अगर एक महीने में 1 लाख रुपए तक की दवा सेल हो जाती है, तो उसे दुकानदार को मंथली 30 हजार रुपए तक इनकम होगा। वहीं अगर कमिशन की बात करें तो सरकार इसके लिए भी निमय बनाई है कि अगर आप जितनी दवा सेल करते हैं तो, कमिशन भी उतना ही ज्यादा मिलेगा।

सरकार से कैसे ले स्टोर खोलने की अनुमति

अगर आप स्टोर खोलना चाहते हैं तो इसके लिए आपको पहले लगभग 1 लाख रुपए की दवाइयां खरीदनी होगी, जिसके बाद सरकार इसे मंथली बेसिस पर रीइंबर्समेंट करेगी। इतना ही नहीं दुकान शुरू करने से पहले इंफ्रास्ट्रक्चर यानी रैक, डेस्क आदि बनवाने का भी पैसा सरकार आपको 1 लाख रुपए तक की सहायता करेगी। जिसे सरकार को ये पैसा 6 महीने के अंदर चुकानी होगी। वहीं जनऔषधि सेंटर में प्रयोग किये जाने वाले कंप्यूटर आदि के सेटअप के कर्च के लिए सरकार 50 हजार रुपए तक के खर्च भी सरकार आपको देगी।

EDITED BY : शुभम श्रीवास्तव

 

loading...
शेयर करें