भाजपा सांसद ने केजरीवाल को दी खुली बहस की चुनौती

0

नई दिल्ली। दिल्ली में एक बार फिर लेटर वार शुरू होता दिखाई दे रहा है। पहले जहां दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने एक पत्रों के माध्यम से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उपराज्यपाल नजीब जंग को निशाने पर लिया था, वहीं भाजपा सांसद महेश गिरी ने अपने ट्विटर अकाउंट से एक पत्र सार्वजनिक कर अरविन्द केजरीवाल को खुद पर लगाये गए आरोपों को साबित करने की खुली दे डाली है।

केजरीवाल को चुनौती

केजरीवाल को चुनौती के लिए लिखा पत्र

मालूम हो कि अरविन्द केजरीवाल ने महेश गिरी और एनडीएमसी उपाध्यक्ष करन सिंह तंवर पर एनडीएमसी के अधिकारी एमएम खान की हत्या का आरोप लगाया था। यह आरोप लगाते हुए उन्होंने दिल्ली के उपराज्यपाल को भी आड़े हाथों लिया था। उन्होंने एक पत्र सार्वजिक करते हुए लिखा था कि एलजी ने बड़ी खूबसूरती से महेश गिरी और तंवर को पुलिस की पूछताछ से बचा लिया था। इसी मामले को लेकर अब भाजपा सांसद ने केजरीवाल पर पलटवार किया है।

बीजेपी सांसद महेश गिरी ने अरविंद केजरीवाल पर हमला बोलते हुए अपने पत्र में लिखा कि मैं केजरीवाल की इस अशोभनीय भाषा देखकर स्तब्ध हूं। एक संवैधानिक पद पर रहते हुए इस तरह की भाषा का इस्तेमाल वाकई समझ से परे है। आपकी इस भाषा ने सार्वजनिक जीवन की मर्यादा का स्तर गिरा दिया है।

उन्होंने अपने पत्र के माध्यम से कहा कि केजरीवाल के ये आरोप सिर्फ एक मिथ्या हैं और तथ्यहीन हैं। अगर उन्होंने मुझपर यह आरोप लगाये हैं तो उनके पास इसके पुख्ता सबूत और तथ्य जरूर होंगे। उन्होने केजरीवाल को चुनौती देते हुए कहा कि 19 जून को शाम 4 बजे वो दिल्ली के कॉन्सिट्टियूशन क्लब में आए और साबित करें कि एनडीएमसी के अफसर की हत्या में मेरा हाथ था।

उन्होंने अपने पत्र में लिखा कि यह खुली बहस जनता और मीडिया के सामने सत्य लाने का ईमानदार प्रयास है। उन्होंने अपने पत्र में केजरीवाल को चुनौती देते हुए लिखा कि मैं इसके लिए आपको तीन दिन का समय देता हूँ। या तो कॉन्सिट्टियूशन क्लब में बहस कर यह साबित करें कि इस हत्या के पीछे मेरा हाथ है या तो अपने पद से इस्तीफा दें।

 

 

loading...
शेयर करें