केजरीवाल सरकार पर लगा सबसे बड़े घोटाले का आरोप, एफआईआर दर्ज

केजरीवाल सरकारनई दिल्ली। दिल्‍ली की अरविंद केजरीवाल सरकार पर एक बड़े घोटाले का आरोप लगा है। बताया जा रहा है कि 139 करोड़ का ये घोटाला केजरीवाल सरकार के श्रम विभाग से जुड़ा हुआ है। आपको बता दें कि केजरीवाल सरकार का श्रम विभाग गोपाल राय के अधीन है। वहीं दूसरी तरफ एंटी करप्‍शन ब्रांच ने मामले की एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

खबरों के मुताबिक, आरटीआई कार्यकर्ता और दिल्‍ली लेबर यूनियन के अध्‍यक्ष सुखबीर शर्मा ने केजरीवाल सरकार पर इस घोटाले का आरोप लगाया है। शर्मा ने दिल्‍ली सरकार पर आरोप लगाया है कि श्रम विभाग ने 139 करोड़ रूपए फर्जी मजदूरों को आवंटित किए हैं। कई ट्रेड यूनियनों ने फर्जी मजदूरों को अपनी कंपनी में रजिस्टर्ड दिखाया है।

शिकायत में कहा गया है कि दिल्ली में कंस्ट्रक्शन क्षेत्र में काम करने वाले मजदूरों को दिल्ली सरकार से मिलने वाली सुविधाओं को आम आदमी पार्टी के वॉलेंटियर्स को फर्जी मजदूर बनाकर बांट दिया गया। शुरुआती जांच में एंटी करप्शन ब्रांच ने इन आरोपों को सही पाया और एफआईआर दर्ज कर ली।

वहीं एसीबी ने श्रम विभाग के खिलाफ आईपीसी की धारा 420, 467, 471, 120बी और प्रिवेंशन ऑफ करप्शन एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है। सुखबीर शर्मा की मानें तो यह पूरा घोटाला 200 करोड़ रुपए से ऊपर का है। सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर बोर्ड को यह निर्देश दिए गए थे कि कंस्ट्रक्शन के लिए काम करने वाले श्रमिकों के कल्याण पर बोर्ड पैसे खर्च करे।

Related Articles