केदारनाथ और बद्रीनाथ के कपाट इस दिन होंगे बंद

0

देहरादून। उत्तराखंड में केदारनाथ धाम और बद्रीनाथ धाम के कपाट बंद होने वाले हैं। इसके लिए दिन भी तय कर लिया गया है। बताया जा रहा है कि बाबा केदार के कपाट एक नवंबर को भैय्या दूज के दिन बंद कर दिया जाएगा।

केदारनाथ और बद्रीनाथ

केदारनाथ और बद्रीनाथ में बढ़ी भक्तों की भीड़

केदारनाथ और बद्रीनाथ के कपाट बंद होने के बीच 15 दिनों का अंतर रखा गया है। एक नवंबर को भैय्या दूज के दिन बाबा केदार के कपाट बंद होंगे। वहीं 16 नवंबर को बद्रीनाथ के कपाट बंद हो जाएंगे।

रुद्रप्रयाग जनपद में स्थित भगवान शिव के पंच केदारों में प्रथम केदार के रुप में पहचान रखने वाले केदानाथ धाम के कपाट एक नवम्बर को सुबह साढ़े आठ बजे बंद होंगे।

तीन नवम्बर को बाबा केदार की चल विग्रह उत्सव डोली नगाड़ों के साथ अपने शीतकालीन गद्दीस्थल ओमकारेश्वर मंदिर ऊखीमठ में स्थापित की जाएगी।

वहीं, जनपद चमोली में स्थित भगवान विष्णु के प्रसिद्ध मंदिर बदरीनाथ के कपाट 16 नवम्बर दोपहर तीन बजकर 45 मिनट पर बंद होंगे।

बदरीनाथ मंदिर में मुख्य पुजारी रावल ईश्वरी प्रसाद नंबूदरी, धर्माधिकारी भुवन उनियाल सहित बेदपाठियों ने इसका मूर्हत निकाला। 12 नवबंर से बदरीनाथ में पंच पूजाएं शुरू होगी। इस मौके पर मंदिर समिति के सीईओ बीडी सिंह सहित कई लोग उपस्थित थे।

द्वितीय केदार मधमहेश्वर धाम के कपाट 22 नवम्बर को सुबह आठ बजकर 22 मिनट पर बंद होंगे। अपने चौथे पड़ाव में बाबा मधमहेश्वर की डोली भी ओमकारेश्वर मंदिर में पहुंचेगी। ओमकारेश्वर मंदिर में हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया।

 

loading...
शेयर करें