ज्यादा जीते हैं शादीशुदा कैंसर रोगी

0

कैंसरवाशिंगटन। पति-पत्नी का रिश्ता बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है। पत्नी अपने पति की लंबी उम्र की कामना करती है। इस बात पर वैज्ञानिकों ने भी अपनी मुहर लगा दी है। वैज्ञानिकों के एक नए शोध के मुताबिक वैवाहिक जीवन किसी भी व्यक्ति के स्वास्थ्य में अहम भूमिका निभाता है। यहां तक कि विवाहित कैंसर रोगी अविवाहित कैंसर रोगियों की तुलना में अधिक समय तक जीते हैं।

कैंसर रोगियों पर अमेरिका ने किया अध्ययन

अमेरिका के इंस्टीट्यूट ऑफ कैलीफोर्निया के शोधार्थियों ने साल 2000 से 2009 के बीच करीब आठ लाख लोगों पर अध्ययन किया था, जिनमें आक्रामक कैंसर की पुष्टि हुई थी। निष्कर्षो के मुताबिक अविवाहित रोगियों की मृत्युदर विवाहित रोगियों से अधिक रही। विवाहित पुरुषों के मुकाबले अविवाहित पुरुषों की मृत्युदर 27 प्रतिशत अधिक थी। वहीं विवाहित महिलाओं की तुलना में अविवाहित महिलाओं की मृत्युदर 19 प्रतिशत अधिक पाई गई।

पीड़ित को चाहिए सामाजिक समर्थन

इन विवाहित प्रतिभागियों के बीच निजी स्वास्थ्य बीमा और उच्च सामाजिक-आर्थिक परिवेश में रहने जैसे कई उच्च आर्थिक संसाधनों की दखल भी पाई गई थी। इंस्टीट्यूट ऑफ कैलीफोर्निया से इस अध्ययन की लेखिका स्कारलेट लिन गोमेज ने बताया, “हमारा अध्ययन बताता है कि किसी भी व्यक्ति के लिए सामाजिक समर्थन कितना महत्वपूर्ण है।” यह सर्वे ‘कैंसर’ पत्रिका में छापा गया है।

loading...
शेयर करें