‘पाकिस्‍तान जिंदाबाद’ कहने वालों की जुबान क्यों न काट दी जाए ?

0

नई दिल्‍ली बीजेपी के सीनियर नेता कैलाश विजयवर्गीय अक्‍सर अपने विवादित बयानों के लिए जाने जाते हैं। फिर चाहे किसी राजनेता को लेकर हो या कोई अभिनेता। अब उन्‍होंने जेएनयू में राष्ट्रविरोधी नारों को लेकर जारी विवाद पर बड़ा बयान दिया है। कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि क्या भारत में रहकर पाकिस्तान जिंदाबाद करने वाले देशद्रोहियों की जबान नहीं काट देनी चाहिए?

कैलाश विजयवर्गीय

कैलाश विजयवर्गीय ने किया ट्वीट

कैलाश विजयवर्गीय ने ट्वीट किया कि क्या भारत में रहकर पाकिस्तान जिंदाबाद करने वालों की ज़बान नहीं काट देनी चाहिये? उन्‍होंने कहा कि आज इलाहबाद में एक पूर्व सैनिक ने मुझसे सवाल किया कि हम सैनिक सीमा पर प्राणों की बाजी क्या इसलिये लगाते हैं कि देश के अंदर लोग पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाएं और कोई कुछ न कहे? मुझे लगा कि उन पूर्व सैनिक के मुंह से आज भारत का हर राष्ट्रभक्त बोल रहा है।

कैलाश विजयवर्गीय के ट्वीट –

Kailash Vijayvargiya @KailashOnline

भारत में रहकर पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने वाले देशद्रोहियों की ज़बान क्यों नहीं काट दी जाती? 4/6

5:49 PM – 12 Feb 2016

Kailash Vijayvargiya @KailashOnline

आज इलाहबाद में एक पूर्व सैनिक ने मुझसे एक ऐसा सवाल किया, जो आज हर राष्ट्रभक्त को सता रहा है… 2/6

5:49 PM – 12 Feb 2016

Kailash Vijayvargiya @KailashOnline

लेकिन सवाल यह उठता है, कि भारत जैसे लोकतांत्रिक और संवैधानिक मर्यादाओं का पालन करने वाले देश में क्या यह संभव है??? 6/6

5:51 PM – 12 Feb 2016

क्या है मामला?

जेएनयू में संसद हमले में शामिल आतंकी अफजल गुरु और जम्मू एंड कश्मीर लिबरेशन फ्रंट के संस्थापक मकबूल भट की याद में सांस्कृतिक संध्या का आयोजन किया गया था। डेमोक्रेटिक स्टूडेंट यूनियन से ताल्लुक रखने वाले 10 छात्रों ने अफजल गुरु की बरसी पर ये कार्यक्रम आयोजित किया था। जिसके अंत में एबीवीपी ने विरोध जताते हुए हंगामा किया और बात मारपीट तक जा पहंची।

loading...
शेयर करें