कोयला खदान में विस्फोट: 26 खदानकर्मियों की मौत की आशंका

0

मॉस्को। रूस की कोयला खदान में विस्फोट होने से करीब 26 खदानकर्मियों की मौत होने की खबर है।  खबर है कि रूस के कोमी गणराज्य की कोयला खदान में विस्फोट हुआ है। रूस के आपातकालीन मामलों के विभाग ने इसकी जानकारी दी है।

कोयला खदान में विस्फोट

कोयला खदान में विस्फोट: फंसे लोगों के बचने की उम्मीद कम

सूत्रों से खबर मिली है कि कोयला खदान में फंसे लोगों के बचने की कोई उम्मीद नहीं हैं। सेवेरनया खदान का संचालन करने वाले वॉर्कुतौगल माइनिंग कॉरपोरेशन के तकनीकी निदेशक डेनिस पइकिन ने कहा कि वर्तमान स्थिति के आकलन से यही समझ में आ रहा है कि खदान में फंसे लोगों के जीवित होने की उम्मीद नहीं है।

गैस विस्फोट है कारण

रुस के सेवेरनया खदान में गुरुवार को हुए मिथेन गैस विस्फोट के कारण दो विस्फोट हु़ए और चट्टान ढह गई जिसके बाद आग लग गई। पहले विस्फोट के कारण खदान के भीतर मौजूद 111 कोयला खदानकर्मियों में से चार मारे गए, जबकि 26 अन्य फंस गए। तीसरा विस्फोट जांच और बचाव अभियान के दौरान रविवार तड़के हुआ जिसमें पांच बचावकर्मी और एक खदानकर्मी मारे गए।

कोयला खदान में विस्फोट: तीसरे विस्फोट ने बिगाड़ी स्थिति

रूस के आपातकालीन मामलों के मंत्री व्लादिमिर पुखोव ने बताया कि तीसरे विस्फोट से स्थिति और बिगड़ गई। पुखोव ने कहा कि आंकड़े बता रहे हैं कि 26 खदानकर्मी खदान के भीतर जिस स्थान में थे, वहां तापमान बेहद ज्यादा है और ऑक्सीजन नहीं है। यह स्थान तीसरे विस्फोट का केंद्र था। खदान के प्रभावित क्षेत्र की परिस्थितियां ऐसी हैं जहां कोई जीवित नहीं रह सकता।

तुरंत रोका गया बचाव कार्य

तीसरे धमाके के बाद विशेषज्ञों ने खदान में और विस्फोट होने की संभावना जताई थी जिसके बाद बचाव कार्य तत्काल रोक दिया गया। पुखोव ने तीसरे धमाके के बाद विशेषज्ञों और तकनीशियनों को कोयला खदान की स्थिति का आकलन करते हुए एक नई रपट तैयार करने का निर्देश दिया। मंत्रालय के मुताबिक, मिथेन के कारण खदान में सिलसिलेवार विस्फोट हुए हैं। कोमी रिपब्लिक ने रविवार को विस्फोट में मारे गए लोगों की याद में तीन दिन के शोक की घोषणा की।

loading...
शेयर करें