कोरोना के साथ संचारी रोगों के लिए भी करें तैयारी: सीएम योगी

0

लखनऊ। कोविड-19 से जूझ रहे स्वास्थ्य विभाग व प्रशासनिक अफसरों को सामने अब नई चुनौती आने वाली है। बारिश शुरू हो चुकी है। इसके साथ ही संचारी रोगों के का भी खतरा बढ़ गया है। सोमवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने सरकारी आवास पर टीम-11 के साथ बैठक में प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग व अफसरों को इस दोहरी चुनौती को लेकर सतर्क किया। मुख्यमंत्री ने कहा, वर्षा ऋतु में संचारी रोगों का प्रकोप बढ़ जाता है। इसलिए इस मौसम में साफ-सफाई की विशेष ध्यान रखा जाए। स्वच्छता को लेकर कहीं पर भी किसी तरह की लापरवाही न बरती जाए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में 1 जुलाई से 31 जुलाई तक संचारी रोग नियंत्रण अभियान चलाया जाएगा। संबंधित विभाग की पूरी तैयारी कर लें। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों व सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों को भी संचारी रोगों के प्रति सतर्क रखा जाए।

सीएम योगी ने कहा, कोरोना संक्रमण को न्यूनतम करने के लिए टेस्टिंग की संख्या बढ़ाई जाए। ट्रूनैट मशीनों तथा रैपिड एन्टीजेन टेस्ट मशीनों को पूरी क्षमता से संचालित करते हुए टेस्ट किए जाएं। मुख्यमंत्री ने गाजियाबाद व गौतमबुद्धनगर सहित पूरे मेरठ मण्डल में विशेष सावधानी बरतने का निर्देश दिया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि ओपीडी संचालित होने वाले सभी सरकारी अस्पतालों में कोविड हेल्प डेस्क अवश्य बने। निजी अस्पतालों को भी इसके लिए प्रेरित किया जाए।

सर्विलांस टीम घर-घर जाकर लोगों की जानकारी ले व उन्हें जागरूक करे। लोगों को मास्क और दो गज की दूरी के नियम का सख्ती से पालन कराया जाए। जागरूकता संबंधी होर्डिंग्स ऐसे स्थानों पर लगाई जाएं, जहां पर लोगों को दूर से दिख जाएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड अस्पतालों में व्यवस्थाएं चुस्त-दुरुस्त रखी जाएं। बेडों की संख्या बढ़ाई जाए। प्रत्येक जनपद में आक्सीजन की पर्याप्त आपूर्ति व उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड अस्पतालों में तैनात डाॅक्टर व मेडिकल स्टाफ वार्ड में नियमित राउंड लेते रहें। साथ ही हर 24 घण्टे में मरीज के परिजनों को रोगी के स्वास्थ्य की जानकारी दी जाए।

loading...
शेयर करें