गोरखपुर में हम दिल दे चुके सनम

गोरखपुर। पंचायतों का नाम सुनते ही आप के जेहन में खाप पंचायतों के खौफनाक फैसले ही आते होंगे। लेकिन देश में एक ऐसी पंचायत भी हुई है जिसकी मिसाल पूरे भारत के पंचायतों में पेश की जा सकती है। यह पंचायत गोरखपुर के झंगहा थानाक्षेत्र के रमपुरा गांव के करमैता टोला में आज हुई। पंचायत ने फैसला सुनाया की तीन बच्चों की मां अपने प्रेमी के साथ रह सकती है। बच्चों की मां और प्रेमी बीती रात आपत्तिजनक हालत में पकड़े गये थे। पंचायत के इस फैसले को महिला के पति ने भी स्वीकार कर लिया। और फिर तीन बच्चों की मां अपने प्रेमी के साथ चली गई।
खाप पंचायत

खाप पंचायत से ठीक उलट

कहानी कुछ यूं है। झंगहा थानाक्षेत्र के दो युवक साथ में रहकर मुंबई में काम करते थे। उमेश (बदला नाम) नामक युवक अपने साथी राजेश से अपनी पत्नी की अक्सर फोन पर बात कराता था। राजेश और उमेश की बीबी रंभा को आपस में मोहब्बत हो गई। रंभा के तीन बच्चे हैं जिनमें सबसे बड़ी बेटी आठ साल की है। बीती रात उमेश ने राजेश को अपनी पत्नी के साथ आपत्तिजनक हालत में देख लिया। दोनों दोस्तो में जमकर मारपीट हुई। सुबह पंचायत बुला ली गई।

पंचायत का खास फरमान

गांव की पंचायत ने कहा कि जब दो लोग आपस में मोहब्बत कर रहे हैं और राजीखुशी रहना चाहते हैं तो उन्हें रोकने की जरूरत नहीं है। उमेश से उसकी राय पूछी गई तो उसने भी रंभा के साथ रहने से इनकार कर दिया। इसके बाद तय हुआ कि रंभा राजेश के साथ जाएगी और तीनों बच्चे उमेश के साथ रहेंगे। पंचायत ने इस फैसले पर मोहर लगा दी।

इलाके में चर्चा

गोरखपुर के एक छोटे से थानाक्षेत्र में हुई इस खास पंचायत की चर्चा पूरे इलाके में जोरशोर से हो रही है। हांलाकि इस पंचायत के बाद बच्चों से सिर से मां का साया छिन गया लेकिन एक बहुत बड़ा विवाद भी टल गया। लोग यह भी कह रहे हैं कि देश की तानाशाह खाप पंचायतों को गोरखपुर की इस खास पंचायत से सीख लेनी चाहिए।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button