IPL
IPL

खुलासा: आखों की रोशनी खो चुके चालक दौड़ा रहे रोडवेज बसें

कानपुर। रोडवेज बसें भगवान भराेसे ही चल रही हैं। बीस फीसदी अनफिट चालक रोडवेज बसों को सड़कों पर दौड़ा रहे हैं। इनमें से कुछ ऐसे हैं जो अपनी आखों की रोशनी तक खो चुके हैं। आप घर त‍क पहुंच जाएं आप की ही किस्मत। यह खुलासा रोडवेज चालकों के स्वास्थ्य परीक्षण में सामने आया है।

रोडवेज बसें

रोडवेज बसें बन रही हैं काल

स्वास्थ्य प्रशिक्षण में सबसे ज्यादा खराब स्थिति कानपुर के बस चालकों की दिखी। यहां 37 बस चालक ऐसे हैं जिन्होंने अपनी आखों की रोशनी तक खो दी हैं। इसके बावजूद भी रोडवेज प्रशासन ने हजारों यात्रियों की जिंदगी इनके हाथों में सौंप रखी है।

चेकअप में सामने आई हकीकत
रोडवेज के आरएम नीरज सक्सेना का कहना है कि विभाग द्वारा ड्राइवर्स के कराये गए चेकअप में सबसे ज्या दा कानपुर के ड्राइवर्स चिन्हित किये गए। कुल 292 रोडवेज चालकों का आई टेस्ट हुआ। जिसमें 185 फिट पाये गए। वहीँ 107 अनफिट व 37 की आँखों की रोशनी में खराबी मिली।

40 हजार यात्री रोज करते हैं यात्रा
कानपुर की 584 बसें पूरे प्रदेश में दौड़ती हैं। इनमें प्रतिदिन चालीस हजार से जादा लोग यात्रा करते हैं। सबसे सुरक्षित यात्रा मानकर चलने वालों का सबकुछ यही ड्राइवर्स ही होते हैं। वहीँ यात्री भी इनके फिट होने का भरोसा करते हैं।

इलाज भी होगा और हटाये भी जायेंगे
आरएम नीरज का कहना है कि रोडवेज बसों के अनफिट चालकों का इलाज कराया जाएगा। उम्मीद है कि वे ठीक हो जाएंगे। जो ठीक नहीं होंगे उन्हें बसों से हटा दिया जायेगा। उन्हें दूसरे कामों में लगाया जायेगा। लेकिन यात्रियों की सुरक्षा के लिए विभाग जरूरी कदम उठाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button