‘खून के धब्बे’ वाले बयान से पलटे सलमान खुर्शीद, बताया व्यक्तिगत राय, कांग्रेस ने भी झाड़ा पल्ला

नई दिल्ली। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद ने एएमयू में दिए एक बयान में कहा था कि कांग्रेस के दामन में मुसलामानों के खून के धब्बे लगे है और कांग्रेस का नेता होने के नाते मुसलमानों के ख़ून के यह धब्बे मेरे अपने दामन पर भी हैं। लेकिन अब वो अपने बयान से पलटते हुए इससे व्यक्तिगत राय बताया। माना जा रहा है कि उनके इस बयान से कांग्रेस के लिए मुश्किल तो खड़ी होगी ही साथ ही एक नई बहस शुरू हो जाएगी। इसलिए उन्होंने अपने बयान को लेकर सफाई देते हुए इस व्यक्तिगत राय बताया है।

SALMAN

बता दे कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद ने अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के डॉ. बीआर आंबेडकर हॉल में आयोजित वार्षिकोत्सव में छात्रों से संवाद किया था। इसी दौरान आमिर मिंटोई नाम के छात्र ने सलमान खुर्शीद से सवाल पूछा कि कांग्रेस के दामन पर मुसलमानों के खून के जो धब्बे हैं, इन धब्बों को आप किन अल्फ़ाज़ों से धोना चाहेंगे।

खुर्शीद छात्र के सवालों से बचते नजर नए, लेकिन सवालों से बचते हुए भी सलमान खुर्शीद यह गए की कांग्रेस का नेता होने के नाते मुसलमानों के ख़ून के यह धब्बे मेरे अपने दामन पर हैं।

पीएल पुनिया ने खुर्शीद के बयान पर जताई असहमति
कांग्रेस प्रकट पीएल पुनिया ने एक प्रेस वार्ता के दौरान सलमान खुर्शीद के बयान पर असहमति जताते हुए कहा कि यह उनका निजी बयान है इससे कांग्रेस पार्टी का कोई लेना देना नहीं। पीएल पुनिया ने प्रेस वार्ता में कहा, कांग्रेस पार्टी एक समानतावादी समाज बनाने के लिए काफी काम किया है। कांग्रेस पार्टी समाज के सभी वर्गों और लोगों को साथ लेकर चलती आई है।

RJD नेता ने जताई कड़ी प्रतिक्रिया
बिहार में कांग्रेस की सहयोगी पार्टी राजद के नेता मानोज झा ने खुर्शीद के बयान पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। मनोज झा का कहना है कि उनका यह बयान माहौल को बिगाड़ने वाला है। उन्होंने ये माना कि कांग्रेस शासन के दौरान दंगे के वक़्त प्रशासनिक चूक हुई है।

कांग्रेस पर BJP का हमला
सलमान खुर्शीद के इस बयान के बाद राजनितिक गलियारों में विपक्षी पार्टियों का भी हमला शुरू हो गया है। इस कढ़ी में सबसे पहले बीजेपी के नेता और केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास ने आरोप लगाया कि कांग्रेस के शासनकाल में 5000 हजार दंगे हुए हैं।

अब्बास नकवी ने एक चैनल से बातचीत में खुर्शीद पर हमला बोला। उन्होंने कहा, कांग्रेस के शासनकाल में 5000 दंगे हुए हैं। अब अगर ये दंगों के इतिहास पर माफी मांग रहे हैं तो यह कहा जा सकता है कि देर आए दुरुस्त आए। कांग्रेस ने दंगों के आड़ में ही अपनी राजनीति को निखारा है। अब देखना होगा कि खुर्शीद किसकी तरफ से मांफी मांग रहे हैं।

Related Articles