स्टेडियम में अब बर्बाद नहीं होगा बिजली और पानी !

0

दिल्ली। आईपीएल 2016 में सुखाग्रस्त महाराष्ट्र के स्टेडियमों में पानी की बर्बादी के लेकर अदालत के आदेश पर आईपीएल के कई मैच रद्द किये गये। और इस से खेल मंत्रालय ने भी सीख ली है।  खेल मंत्रालय ने उसके अर्तगत आने वाले देश भर के स्टेडियमों में पानी और बिजली की बर्बादी रोकने के लिए कमर कस ली है। हाँलाकि इस बात की ओर अभी तक किसी का ध्यान नही गया है कि स्टेडियम में फ्लड लाइट के इस्तेमाल से कितनी बिजली खर्च होती है। मंत्रालय ने इस पर भी दिशा-निर्देश तैयार करने को कहा है।

खेल मंत्रालय

खेल मंत्रालय ने सांई को गाइडलाइंस तैयार करने को कहा

सबसे ज्यादा पानी की बर्बादी टर्फ पर होने वाले हॉकी मुकाबलों में होती है। इसी को ध्यान में रखते हुए कहा गया है कि टर्फ को बिछाने के दौरान कुछ इस तरह का डिजाइन तैयार किया जाए जिससे पानी की बर्बादी को रोका जा सके। खेल मंत्रालय ने इस संबंध में साई को विस्तृत गाइडलाइंस तैयार करने को कहा है।

सांई को इस मुद्दे पर गाइडलाइंस तैयार करने को कहने की वजह यह है कि उसके संरक्षण में ही देश और दिल्ली (नेहरू, ध्यानचंद, इंदिरा गांधी स्टेडियम) के ज्यादातर नामी स्टेडियम आते हैं। मंत्रालय ने अपने आदेश में भी साफ किया है कि आईपीएल के दौरान अदालत के आए आदेश के चलते स्टेडियमों में पानी की बर्बादी पर उसे गंभीर होना पड़ रहा है। साई गाइडलाइंस तैयार करने के लिए विशेषज्ञों की राय ले सकता है।

देश में सबसे ज्यादा हॉकी स्टेडियम

सांई के इस वक्त देश में सबसे ज्यादा हॉकी के स्टेडियम हैं। इनमें टर्फ भी बिछी है। हॉकी मैच गीली टर्फ पर होता है। ज्यादातर स्थानों पर इस पानी के उपयोग की व्यवस्था नहीं है। इसी को ध्यान में रखते हुए मंत्रालय ने कहा है कि टर्फ बिछाने का ऐसे दिशा निर्देश और डिजाइन तैयार कराए जाएं, जिससे पानी का कम प्रयोग हो साथ ही बर्बाद होने वाले पानी को संरक्षित किया जा सके।

दरअसल क्रिकेट स्टेडियमों में पानी की बर्बादी का मामला बीते दिनों काफी गर्माया रहा। खास तौर पर फिरोजशाह कोटला में डीडीसीए की ओर से आरओ वॉटर से सिचाई किए जाने के मुद्दे को एनजीटी ने भी गंभीरता से लेते हुए उससे सवाल-जवाब किया है। निकट भविष्य में इसी तरह के विवादों से बचने के लिए ही मंत्रालय ने स्टेडियमों में पानी और बिजली की बर्बादी रोकने के लिए गाइडलाइंस तैयार करने का मन बनाया है।

loading...
शेयर करें