गंगा को प्रदूषण मुक्त बनाने के लिए आगे आए अमेरिकी वैज्ञानिक

0

गंगा को प्रदूषण मुक्तदेहरादून। गंगा को साफ करने के लिए उत्तराखंड ने एक नई पहल की है। ऋषिकेश में अब ऐसी बोट नज़र आएगी जो लोगों को नदी पार कराएगी। इस बोट में किसी तरह का प्रदूषण नहीं होगा। इसके लिए परमार्थ निकेतन की ओर से प्रयास किए जा रहे हैं। गंगा को प्रदूषण मुक्त बनाने के लिए इस तरह की कोप्शिश की जा रही है

गंगा को प्रदूषण मुक्त बनाने के लिए अमेरिकी वैज्ञानिकों ने किया प्रयास

परमार्थ निकेतन के परमाध्यक्ष व गंगा एक्शन परिवार के प्रणेता स्वामी चिदानंद सरस्वती मुनि महाराज नेगंगा को प्रदूषण मुक्त बनाने की चिंता अमेरिकी वैज्ञानिकों के सामने रखी। उन्होंने वैज्ञानिकों से अमेरिकी तकनीकों के बारे में जानकारी भी प्राप्त की।

परमार्थ आश्रम के प्रवक्ता राम महेश मिश्र ने बताया कि स्वामी चिदानंद मुनि महाराज इन दिनों अमेरिका प्रवास पर हैं। यहां स्वामी मुनि महाराज ने अमेरिका स्थित रोबोटिक्स इंस्टीट्यूट ऑफ कारनेगी मेलन यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों से गंगा को प्रदूषण मुक्त बनाने में मदद का प्रस्ताव रखा।

स्वामी मुनि महाराज ने बताया कि अमेरिकी वैज्ञानिकों ने आधुनिक बोट तैयार की है। जो नदी में उतरते ही नदी के अंदर की गंदगी को साफ करती है। इस बाबत उनकी विवि की वैश्विक प्रबंधक रिचेल बर्किन से विस्तृत मंत्रणा भी हुई। स्वामी चिदानंद महाराज ने बताया कि वह अगस्त के अंतिम सप्ताह भारत आकर केंद्र के जल संसाधन मंत्री व पर्यावरण व वन मंत्री के साथ विशेष रूप से बैठक करेंगे।

loading...
शेयर करें