गद्दार बेटे का शव लेने से पिता ने किया इनकार तो पुलिस ने सैफुल्लाह को ऐशबाग में दफनाया

लखनऊ। राजधानी लखनऊ में 12 घंटों की मुठभेड़ में मारे गए आइएस आतंकी सैफुल्लाह का शव परिवार वालों ने लेने से मना कर दिया जिसके बाद कड़ी सुरक्षा के बीच ऐशबाग कब्रिस्तान में दफना दिया गया।

एसएसपी मंजिल सैनी के मुताबिक रात पोस्टमार्टम किया गया जिसके बाद उसे दफनाया गया। सैफुल्लाह का आतंकी संगठन से तार जुड़ने की खबर से परिवार वाले सदमे में हैं। बेटे की मौत एक बाप के लिए दुखों का पहाड़ तोड़ देती है लेकिन बेटा देश का दुश्मन निकले तो वही बाप उसकी मौत पर आंसू गिराना भी पसंद नहीं करता।

सैफुल्लाह के पिता बेटे की हरकत को पूरी कौम के लिए दाग बताते हुए उसे गद्दार करार दिया और मिसाल पेश करते हुए शव लेने से ही इन्कार कर दिया। बुधवार को पुलिस कानपुर के जाजमऊ सैफुल्लाह के घर पहुंची और शव लेने की बात कही। इस पर पिता ने दो टूक कह दिया कि हमें शव नहीं चाहिए। पिता सरताज के मुताबिक, जबसे सैफुल्लाह से लोग सैफ कहने लगे, वह भटक गया। इस बात पर घर में कई बार डांटा गया तो उसने घर छोड़ दिया। उसके बाद वह क्या कर रहा था? किसी को पता नहीं था। अचानक टीवी से पता चला कि वह देश से गद्दारी कर रहा है और उसे सजा में जान गंवानी पड़ी।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button