गलवान घाटी : चीनी अफसर को उठा लाए थे सिख रेजिमेंट के जवान

गलवान घाटी के बीच हुई हिंसक झड़प के बीच भारतीय सैनिकों की एक और जाबांजी सामने आई है। 15 जून की लड़ाई के बीच बहादुर सिख सैनिक चीन के एक अफसर को उठा लाए। हालांकि जब चीन ने भारत के 10 जवानों को छोड़ा तो उस एक अफसर को भी छोड़ दिया गया।

An Indian Army convoy moves along a highway leading to Ladakh, at Gagangeer in Kashmir’s Ganderbal district June 18, 2020. REUTERS/Danish Ismail

आपको बता दें कि यह घटना उस दौरान की है जब 15 जून की रात कर्नल संतोष बाबू पर हुए हमले के चलते भारतीय खेमा आग बबूला हो चुका था। इसका बदला लेने के लिए बिहार रेजिमेंट के साथ ही सिख रेजिमेंट के सिख सैनिक भी चीन के खेमे में पहुंच गये। एबीपी न्यूज के अनुसार उस दौरान सिख सैनिकों ने जमकर चीनी सैनिकों पर प्रहार किया और एक चीनी अफसर को उठाकर ले आए।

बिहार रेजिमेंट ने तोड़ी थी चीनी सैनिकों की गर्दन
ज्ञात हो कि बिहार रेजिमेंट ने झड़प के बाद रौद्र रूप दिखाते हुए चीनी सैनिकों की गर्दन तोड़ दी दी। यह पूरा प्रकरण उस दौरान हुआ था जब कमांडिंग ऑफिसर संतोष बाबू पर हमला किया गया।

Related Articles