टीचर की हैवानियत ने छीन ली मासूम छात्र की आवाज

0

इस्लामाबाद।  पाकिस्तान के सिंध प्रांत में कथित तौर पर एक टीचर ने एक 14 वर्षीय छात्र को इस कदर प्रताड़ित किया कि उसे लकवा मार गया। जियो न्यूज के मुताबिक, मोहम्मद अहमद का गला दबाए जाने से उसकी आवाज चली गई और उसे लकवा मार गया। परिणामस्वरूप उसका शरीर निष्क्रिय हो गया।  पेशे से शिक्षक अहमद के पिता ने बताया की घटना चार महीने पहले हुई थी और उनके बेटे की इस स्थिति के लिए जिम्मेदार कुछ शिक्षक हैं।

गला दबाए जाने

गला दबाए जाने से छात्र की चली गयी आवाज

उन्होंने कहा कि छह अगस्त को स्कूल की तरफ से सूचना आई थी कि उनके बेटे को दौरा पड़ा है। जब वह स्कूल पहुंचे तो उसके चेहरे, छाती, सिर, पीठ और शरीर के निचले हिस्सों पर काफी चोटें थीं। कराची में चिकित्सकों ने कहा कि उसकी यह हालत यातना की वजह से हुई है।

चिकित्कों ने बच्चे के माता-पिता से कहा था कि बच्चे का इलाज अमेरिका में संभव है, लेकिन उनके पास उसे विदेश ले जाने के लिए पैसे नहीं थे। गुलाम अहमद ने कहा, “मेरी छह बेटियां हैं और मैंने अपनी सारी कमाई अहमद पर खर्च कर दी है।”

loading...
शेयर करें