#UPElection2017 से पहले गायत्री प्रजापति पर सुप्रीम कोर्ट का डंडा, रेप केस में FIR दर्ज करने के आदेश

0

नई दिल्‍ली। उत्‍तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले समाजवादी पार्टी को तगड़ा झटका लगा है। सुप्रीम कोर्ट ने प्रदेश की अखिलेश सरकार में परिवहन मंत्री रहे गायत्री प्रजापति पर रेप केस में एफआईआर दर्ज करने के आदेश दिए हैं। कोर्ट ने यूपी सरकार से आठ हफ्तों में इस मामले पर रिपोर्ट मांगी है।

गायत्री प्रजापति पर रेप केस में एफआईआर

गायत्री प्रजापति पर रेप केस में एफआईआर दर्ज होने से बढ़ीं मुश्किलें

गायत्री प्रजापति इस समय यूपी कैबिनेट मिनिस्टर हैं। 35 वर्षीय पीड़िता उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज न होने पर सुप्रीम कोर्ट गई थी। उसका कहना था कि उसके साथ गैंगरेप हुआ और उसकी बेटी का भी यौन उत्पीड़न किया गया। सुप्रीम कोर्ट ने इस मुद्दे पर तुरंत एफआईआर दर्ज करने के आदेश दिए हैं।

गायत्री पर पहले भी कई संगीन आरोप

गायत्री प्रजापति पर आय से अधिक संपत्ति रखने, अवैध कब्जे, अवैध खनन सहित कई संगीन आरोप लग चुके हैं। कुछ महीने पहले उन्हें अखिलेश यादव ने मंत्रिमंडल से बर्खास्त कर दिया था। हालांकि मुलायम के दबाव में अखिलेश को दोबारा उन्हें सरकार में शामिल करना पड़ा।

चित्रकूट की रहने वाली है पीडि़ता

बताया जाता है कि पीड़िता चित्रकूट की रहने वाली है और उसका आरोप है कि प्रजापति ने समाजवादी पार्टी में अच्छा पद दिलाने का लालच देकर उसे अपने जाल में फंसाया और पिछले दो साल में कई बार उसके साथ गैंगरेप किया।

loading...
शेयर करें