गायनेकोलॉजिस्ट का महाकुम्भ, आइकोग आगरा में नई जानकारियों के साथ सम्पन्न

आगरा। डाक्टर्स महाकुम्भ। एक हजार से अधिक सेशन। देश विदेश के 6 हजार गायनेकोलॉजिस्ट आये। पांच दिन। 59वें  ऑल इंडिया कांग्रेस ऑफ ऑब्सटेट्रिइस एंड गायनेकोलॉजी 2016 का पांचवें दिन समापन हो गया। समापक कार्यक्रम में देश विदेश से आए डाक्टर्स को विभिन्न श्रेणियों में पुरस्कार प्रदान किए गए।

समापन कार्यक्रम में फोग्सी की 2016 की अध्यक्ष डॉ. अलका क्रिपलानी ने कहा कि इस कांफ्रेंस के माध्यम से गायनेकोलॉजिस्ट ने जो कुछ भी सीखा है वह डाक्टर्स के साथ मरीजों के लिए भी फायदेमंद होगा। यहां गायनेकोलॉजिस्ट ने तमाम नई-नई तकनीकों और जानकारियों को एक्सचेन्ज किया।

गायनेकोलॉजिस्ट

गायनेकोलॉजिस्ट का सम्मान

आर्गनाइजिंग कमेटी के चेयरमैन डॉ. नरेनद्र मल्होत्रा व डॉ. अनुपम गुप्ता ने सभी अतिथि गायनेकोलॉजिस्ट को धन्यवाद दिया। इवेन्ट को-ऑर्डिनेटर राजेश सुराना को उनकी टीम के साथ बेहतर आयोजन के लिए सम्मानित किया गया।

मैकलॉयड कम्पनी की स्टॉल को बेस्ट स्टॉल का पुरस्कार प्रदान किया गया। आर्गनाइजर सचिव डॉ.जयदीप मल्होत्रा आयोजन में शामिल सभी लोगों को स्मृति चिन्ह व पुरस्कार प्रदान कर सम्मानित किया। इस मौके पर डॉ. ऋषिकेश पाई, डॉ. सरोज सिंह, डॉ. आरएन गोयल आदि मौजूद थे।

मैं हमेशा इस आयोजन में शामिल होती हूं
यहां डॉक्टर्स आपसी अनुभवों और अपने ट्रीटमेंट प्लान को साझा करते हैं, जोकि बेहद इम्पोर्टेन्ट है। कुल मिलाकर कह सकते हैं कि डॉक्टर्स इस नॉलेज आदान-प्रदान के महाआयोजन से सीख लेकर पब्लिक को बेहतर सुविधाएं देने में कामयाब होते हैं। मैं हमेशा इस आयोजन में शामिल होती हूं।
– डॉ. प्रतिभा दीक्षित, दीक्षित हॉस्पिटल

कैंसर की बैक्सीन
सिर्फ दो प्रकार के कैंसर के ही टीके संभव हैं। जिनमें एक है आतों का कैंसर और दूसरा बच्चेदानी का। सरकार द्वारा आतों के कैंसर के लिए हीपेटाइटिस बी का टीका लगाया जाता है। जिस कारण इस बीमारी पर काफी हद तक कंट्रोल किया जा सका है। वहीं सर्वाइकल कैंसर के लिए भी ऐसा टीका लगाया जाए इसके लिए  प्रस्ताव रखा जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button