गिरिराज सिंह बोले, राम मंदिर भारत में नहीं तो क्या पाकिस्तान में बनेगा

0

नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह अक्सर विवादित बयान देते रहते हैं। इस बाद इन्होंने एक बार फिर राम मंदिर के मुद्दे को उठाया है। गिरिराज सिंह ने कहा कि जनसंख्या काबू में रखे बिना भारत कभी तरक्की नहीं कर सकता। उन्होंने कहा जनसंख्या को लेकर कोई कानून न होने की वजह से जहां एक तरफ राम भक्तों की संख्या कम हो रही है, वहीं इससे सामाजिक समरसता बिगड़ रही है और देश तरक्की नहीं कर पा रहा है।

गिरिराज सिंह

गिरिराज सिंह बोल, मेरी पार्टी कानून में यकीन रखती है

राम मंदिर मुद्दे पर बोलते हुए गिरिराज सिंह ने कहा कि जनसंख्या क़ानून नहीं होने से सनातन धर्मियों व राम भक्तों की संख्या घट रही है और ऐसे में अयोध्या में राम मंदिर कैसे बन पाएगा। उन्होंने कहा कि वह और उनकी पार्टी कानून में यकीन रखती है, लेकिन सवाल यह है कि करोड़ों लोगों की आस्था का केंद्र राम मंदिर अगर भारत में नहीं तो क्या पाकिस्तान में बनेगा। उन्होंने कहा कि भारत को अगर विकसित राष्ट्र बनना है तो उसे चीन की तरह अपने यहां भी जनसंख्या नियंत्रण कानून लागू करना ही होगा। सामाजिक समरसता बरकरार रखने के लिए भी इस तरह का क़ानून बनना बेहद ज़रूरी है। उन्होंने इशारों में कहा कि अयोध्या और राम मंदिर से करोड़ों लोगों की आस्था जुडी हुई है, इसलिए वह हर हाल में बनकर रहेगा।

राहुल गांधी पर भी साधा निशाना

गिरिराज सिंह ने जेएनयू मामले को लेकर राहुल गांधी पर निशाना साधा है। शनिवार को उन्होंने कहा कि इस मामले में राहुल आंतकी हाफिज सईद की भाषा बोल रहे हैं। अगर महात्मा गांधी जिंदा होते, तो जरूर शर्मिंदा होते। राहुल ने कन्हैया की गिरफ्तारी को गलत बताया। उन्होंने कहा कि सबको अपनी बात कहने का हक। आवाज दबाने वाला देशद्रोही है। बीजेपी और आरएसएस आवाज दबा रहे हैं। उन्होंने कहा कि हिटलर भी खुद को देशभक्त बताता था। जब मैं हैदराबाद गया था, तब भी मेरा विरोध हुआ था। किसी ने रोहित वेमुला को भी देशद्रोही बताया था।

loading...
शेयर करें