गूगल ने इजाद किया नया टूल, अब आपत्तिजनक पोस्ट पर लगाई जा सकती है लगाम

0

सोशल मीडिया के इस दौर में जहां सब ट्रोल से परेशान हैं वहीं गूगल ने ट्रोल से छुटकारा पाने के लिए एक नए आर्टिफिशल इंटेलिजेंस टूल पर्सपेक्टिव डिजाइन किया है, जिसकी मदद से अब फेसबुक और ट्विटर जैसी सोशल साइट्स पर अभद्र और अपमानजनक कमेंट्स या पोस्ट्स पर लगाम लगाया जा सकता है। दरअसल, कुछ समय पहले न्यूयॉर्क टाइम्स ने अपने रीडर्स कमेंट को लिमिट में करने के लिए गूगल से मदद मांगी थी जिसके बाद गूगल ने यह टूल डिजाइन किया है। इतना ही नहीं, गूगल बीते सितंबर से न्यूयॉर्क टाइम्स पर इस टूल की टेस्टिंग कर रहा है। फ़िलहाल तो आर्टिफिशल इंटेलिजेंस टूल पर्सपेक्टिव अभी सिर्फ अंग्रेजी भाषा के लिए है, लेकिन जल्द ही दूसरी भाषाओँ के लिए भी ये टूल लांच किया जाएगा।

पर्सपेक्टिव

ऐसे काम करता है गूगल पर्सपेक्टिव टूल

साइबरबुलिंग जैसी चीज़ों से निपटने का जिम्मा अब ऑनलाइन सर्च कंपनी गूगल ने उठाया है। गूगल का इंटेलिजेंस टूल पर्सपेक्टिव अब ऑनलाइन कंटेंट कों स्कैन करेगा और बतायेगा कि ऑनलाइन कंटेंट कितना खतरनाक है। इतना ही नहीं, पर्सपेक्टिव उस कंटेंट को रेटिंग भी देता है, लेकिन यह रेटिंग लोगों द्वारा दी गई रेटिंग पर आधारित होगी। फेसबुक और ट्विटर जैसी सोशल साइट्स पर अक्सर लोगों को खामियाजा ट्रोल होकर भुगतना पड़ता है। पर अब गूगल पर्सपेक्टिव आपत्तिजनक, गंदे और भद्दे कमेंट्स को पहचान कर बिना यूजर को बताये 24 घंटे के अन्दर कोई भी पोस्ट या कमेंट हटा देगा।  गूगल का यह टूल मीडिया संस्थानों को ध्यान में रखकर बनाया है क्योंकि कई बार लोग न्यूज़ साइट्स पर भी भद्दे कमेंट्स डाल देते हैं। इतना ही नहीं, कई संस्थाओं ने तो इससे तंग आकर कमेंट सेक्शन को बंद भी कर दिया है।

loading...
शेयर करें