सिर्फ 782 रुपए में ही गूगल का मालिक बन गया ये आदमी

0

गूगलन्यूयॉर्क। दुनिया का टॉप सर्च इंजन महज 782 रुपए में बिक गया। गूगल में ही काम करने वाले सन्मय वेद ने ही इसको खरीद लिया। इसके बाद क्या हुआ वो और भी ज्यादा हैरानी भरा है। इसके बाद सर्च इंजन को सन्मय वेद को आठ लाख रुपयों का भुगतान करना पड़ा।

बिक गया गूगल

दरअसल सन्मय वेद एक मिनट के लिए गूगल डॉट कॉम नाम के डोमेन के मालिक बन गए थे। इस डोमेन को उन्होंने महज 12 डॉलर यानि 782 रुपयों में खरीद लिया था। पिछले साल सितंबर में कच्छ क्षेत्र के मांडवी के रहने वाले सन्मय ने गूगल डोमेन खोजते समय पाया कि गूगल डॉट कॉम नाम का डोमेन खरीद के लिए उपलब्ध है। उन्होंने 12 डॉलर में यह डोमेन नाम खरीद लिया और उन्होंने सबूत के तौर पर इस खरीददारी के सक्रीनशॉट भी रख लिए। बाद में इस पूरे वाकये का ब्योरा लिंक्डइन पोस्ट के जरिए सार्वजनिक कर दिया। कुछ देर बाद गूगल ने उनकी डील कैंसल कर दी और 12 डॉलर भी लौटा दिए। इससे पहले ही यह बिक्री निरस्त किए जाने से पहले सन्मय ने इसके वेबमास्टर टूल्स तक पहुंच हासिल कर ली थी।

हालांकि सन्मय ने कहा था कि उन्होंने पैसे के बारे में कभी नहीं सोचा और वह मिलने वाली राशि आर्ट ऑफ लिविंग इंडिया फाउंडेशन को दान करना चाहते थे। सर्च इंजन ने एक ब्लॉग पोस्ट में लिखा कि आपने सन्मय वेद के बारे में पढ़ा होगा जो गूगल डोमेन्स पर एक मिनट के लिए यह सर्च इंजन खरीदने में सफल रहे। सन्मय को हमारी ओर से दिया गया शुरुआती वित्तीय पुरस्कार 6,006.13 डॉलर (करीब 4 लाख) था। जब सन्मय ने यह पुरस्कार राशि दान करने की बात कही तो हमने इस राशि को बढ़ाकर दोगुना कर दिया।

सन्मय वेद ने सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट लिंक्डइन पर एक पोस्ट में कहा था कि उन्होंने यह पुरस्कार राशि आर्ट ऑफ लिविंग के शिक्षा कार्यक्रम में दान करने का निर्णय किया।

loading...
शेयर करें