चलती कार में महिला के साथ गैंगरेप, सड़क के किनारे फेंककर भागे बदमाश

0

मेरठ। लाख दावों के बाद भी देश में महिलाओं के साथ हो रहे अत्याचार थमने का नाम नहीं ले रहे। यूपी की हालत तो और भी ख़राब है। ताजा घटनाओं में यूपी के मेरठ से गैंगरेप की खबर आ रही है। मेरठ के बेगमपुल पुलिस चौकी के पास ही आरोपियों ने महिला को उठा लिया। उसके बाद रात भर सड़कों पर दौड़ती कार में महिला के साथ  गैंगरेप किया। उसके बाद गुरुवार सुबह उसे दिल्ली-देहरादून हाईवे पर बागपत फ्लाईओवर के पास फेंक कर भाग गए।

गैंगरेप

गैंगरेप के बाद महिला को सड़क के किनारे फेंका, जांच में जुटी पुलिस

पुलिस ने पीडि़ता का मेडिकल कराकर बयान दर्ज कराए। जानकारी के मुताबिक, महिला एक भिखारन थी। इसके पहले वो घरों में बर्तन माजने का काम करती थी। उसका पति कुछ दिन पहले दुर्घटना में अपाहिज हो गया जिसके बाद उसे मजबूरी में बाहर जाकर काम करना पड़ा।

इसके बावजूद इलाज-दवा का खर्च नहीं जुटा पा रही थी। छह बच्चों समेत आठ लोगों का पेट भरने के लाले पडऩे लगे तो एक माह से उसने भीख मांगनी शुरू कर दी थी। 42 वर्षीय महिला ने पुलिस को बताया कि बुधवार रात आठ बजे वह बेगमपुल पर भीख मांग रही थी।

जानकारी के मुताबिक, बेगमपुल पुलिस चौकी से कुछ दूर एक कार रुकी तो वह भीख मांगने पहुंच गयी। कार सवारों ने उसे 100 रुपये दिए और अंदर खींच लिया। उसके कनपटी पर तमंचा लगाकर जान से मारने की धमकी दी और रातभर शहर की सड़कों पर कार दौड़ती रही और महिला के सात हैवानियत होती रही। गैंगरेप के बाद महिला को फेंक कर आरोपी फरार हो गए। एसएसपी जे रविंदर गौड़ का कहना है कि महिला की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। पुलिस सरगर्मी से आरोपियों की तलाश कर रही है।

loading...
शेयर करें