गोरखनाथ मंदिर ने की घोषणा, 15 को होगी खिचड़ी

गोरखपुर। गोरखनाथ मंदिर से मकर संक्रांति और खिचड़ी मेले की तारीखों की घोषणा कर दी गई है। मंदिर के महंत और गोरखपुर से सांसद योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि वैसे तो मकर संक्रांति पर्व परम्परागत रूप से 14 जनवरी को मनाया जाता लेकिन इस वर्ष यह 15 जनवरी को मनाया जाएगा। उन्होंने यह भी बताया कि बुढ़वा मंगल की खिचड़ी 26 जनवरी को चढ़ेगी।

गोरखनाथ मंदिरगोरखनाथ मंदिर में मेले की तैयारी पूरी

महंत योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि गोरखनाथ मन्दिर में आयोजित होने वाले परम्परागत खिचड़ी मेले की तैयारी पूर्ण हो चुकी है। उन्होंने बताया कि इस वर्ष शुभ संवत् 2072 शाके 1937 सूर्य उत्तरायण हेमन्त ऋतौ पौषे मास शुक्ल पक्ष षष्टी तिथि शुक्रवार के दिन में प्रात: 7:34 मिनट पर सूर्य धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश कर रहे हैं, इसलिए इसके 8 घण्टा पूर्व एवं 8 घण्टा बाद पुण्यकाल माना जाता है। यही वजह है कि इस बार मकर संक्रांति 15 जनवरी को है।

नेपाल-बिहार से जुटेंगे श्रद्धालु
महंत योगी आदित्यनाथ ने बताया कि उत्तर प्रदेश, बिहार तथा देश के विभिन्न भागों के साथ-साथ पड़ोसी राष्ट्र नेपाल से भी बड़ी संख्या में श्रद्धालुजन शिवावतार भगवान गोरखनाथ जी को अपनी पवित्र खिचड़ी चढ़ाते है। लाखों की संख्या में आने वाले श्रद्धालुजनों की सुरक्षा एवं सुविधा का विशेष ध्यान रखते हुये पूरी तैयारी की गई है। उन्होंने कहा कि चूंकि मकर संक्रान्ति पर्व परम्परागत रूप से 14 जनवरी को आम श्रद्धालुजन मनाता आया है। इस दृष्टि से 13 जनवरी के दोपहर बाद से ही आने वाले श्रद्धालुओं को परिसर में रूकने की व्यवस्था इस भीषण शीतलहरी में विभिन्न धर्मशाला और अन्य स्थलों पर की गई है। मकर संक्रान्ति के अवसर पर खिचड़ी चढ़ाने वाले श्रद्धालुजन सुविधापूर्वक भगवान गोरखनाथ जी का दर्शन कर सके इसके लिये बेरीकेडिंग का कार्य पूरी तरह से पूर्ण हो चुका है।

व्यवस्था चाक-चौबंद
मकर संक्रांति और खिचड़ी मेले को देखते हुए मन्दिर परिसर में जगह-जगह अलाव की व्यवस्था, पेयजल की व्यवस्था की गई है। इसके साथ-साथ परिसर में पहले से मौजूद शौचालय के साथ-साथ मन्दिर परिसर के पश्चिम में नये शौचालय बनाये गये है। इसके अलावा मन्दिर परिसर में विद्युत की आपूर्ति अनवरत बनी रहे, इसके लिये पर्याप्त मात्रा में जेनरेटर रखे गये है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button