गोरखनाथ मंदिर में बम की फर्जी सूचना से मचा हड़कम्प

0

गोरखपुर। पूर्वांचल में नाथ सम्प्रदाय के सबसे बड़े मठ गोरखनाथ मंदिर में बम की फर्जी सूचना से सुरक्षा एजेंसियों को शनिवार के दिन खासा कसरत करनी पड़ी। करीब एक घंटे चली जांच-पड़ताल के बाद यह बात साबित हो गई कि मंदिर में कोई बम नहीं है। बम की सूचना कुशीनगर जनपद के कप्तानगंज के रहने वाले एक व्यक्ति को उसके मोबाइल नंबर पर दी गई थी। उस व्यक्ति ने फौरन गोरखपुर पुलिस को इस बारे में जानकारी दी। पुलिस अब फर्जी सूचना देने वाले की जांच में जुट गई है।

अपराह्न साढ़े तीन बजे के बाद अचानक गोरखनाथ मंदिर में पुलिसबल की संख्या बढ़ने लगी। देखते ही देखते मंदिर परिसर पुलिस छावनी में तब्दील हो गया। बम निरोधक दस्ता और डाग स्क्वायड भी दाखिल हो गए। इस सघन जांच अभियान की अगुआई करने स्वयं एसपी सिटी भी मौके पर पहुंच गए। पुलिस वालों ने तकरीबन एक घंटे तक मंदिर का चप्पा-चप्पा खंगाल डाला। उनके हाथ कुछ भी नहीं लगा। पुलिस प्रशासन ने ही मंदिर प्रशासन को बम की सूचना के बारे में एलर्ट किया।

गोरखनाथ मंदिर

गोरखनाथ मंदिर में योगी भी थे मौजूद

भाजपा के फायरब्रांड सांसद और गोरखनाथ मंदिर के महंत योगी आदित्यनाथ भी मंदिर परिसर में ही मौजूद थे। एसपी सिटी ने उन्हें पूरी जानकारी दी। महंत योगी आदित्यनाथ ने पुलिस को ऐसे शरारती तत्वों पर सख्त कार्रवाई करने के लिए कहा जो झूठी सूचना देकर अराजकता फैलाते हैं। बहरहाल पुलिस का अब सारा ध्यान फोन करके गलत सूचना देने वालों को पकड़ने पर है।

मेयर को भी मिली थी धमकी

फर्जी फोन कॉल्स के जरिए गोरखपुर पुलिस को हलकान करने की यह कोई पहली घटना नहीं है। इससे पहले करीब दो माह पहले किसी ने 100 नंबर पर सूचना देकर मेयर को जान से मारने की धमकी दी थी। सिटी मॉल में भी फर्जी बम की सूचना का प्रकरण सामने आया था। रेल महाप्रबंधक को भी लेकर ऐसी फर्जी सूचना से पुलिस को खासा मशक्कत करनी पड़ी थी।

loading...
शेयर करें