दोस्‍त ने मना ली सुहागरात… ये पहुंच गए जेल

गोरखपुर। सूरज पाण्डेय एक बार फिर से पुलिस की पकड़ में आ गया है। एसटीएफ ने इस खूंखार क्रिमिनल को रेलवे स्टेशन पर एक होटल से गिरफ्तार किया। गोरखपुर का यह अपराधी बीते नवम्बर महीने में फिल्मी स्टाइल से जेल के शौचालय की दीवार तोड़कर भाग गया था।
गोरखपुर

गोरखपुर के शातिर अपराधी

सूरज के साथ भागा योगेश मिश्रा अभी भी पुलिस की पहुंच से दूर है। जेल से फरार होने से पहले योगेश ने साथी कैदी की प्रेमिका से कहा था कि बिस्तर तैयार रखना, सुहागरात तुम्हारे साथ मनाऊंगा। पुलिस ने पूरी सतर्कता उस कैदी की निगरानी में लगा दी जिसकी प्रेमिका से योगेश ने बात की थी। मौके का फायदा उठाकर दोनों शातिर अपराधी यानी सूरज और योगेश कचहरी के लॉकअप से फरार होने में कामयाब रहे।
अब सूरज के पकड़ में आने के बाद पुलिस योगेश को गिरफ्त में लेने की कोशिश में है। सूरज हत्या और लूट के करीब 24 मामलों में शामिल रहा है। डीआईजी ने उसके ऊपर 12 हजार रुपए का इनाम घोषित किया था। एसटीएफ ने सूरज के दो अन्य साथियों को भी गिरफ्तार कर लिया है।
24 नवम्बर को योगेश मिश्रा और सूरज पाण्डेय को पेशी के लिए गोरखपुर की दीवानी कचहरी लाया गया था। ये दोनों अपराधी कचहरी के शौचालय की दीवार तोड़कर भाग गए। पुलिस सरगर्मी से इनकी तलाश कर रही थी।
बीती रात पुलिस की जानकारी मिली की सूरज गोरखपुर रेलवे स्टेशन के पास है। एसटीएफ गोरखपुर की एक यूनिट ने लोकेशन ट्रेस कर सूरज और उसके दो साथियों को पकड़ लिया। उनके पास से तमंचा, बाइक और दो मोबाइल मिले हैं।
सूरज मूलरूप से बेलघाट इलाके के मझली गांव का रहने वाला है। उसका साथी श्याम मिश्र पुत्र महेश और अनूप सिंह पुत्र शिवेन्द्र सिंह गगहा इलाके के जगदीशपुर भलुआन के रहने वाले हैं। एसटीएफ तीनों से पूछताछ कर रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button