यूपी के गोरखपुर में हुआ गैंगरेप, योगी सरकार पर उठ रहे सवाल

0

गोरखपुर। यूपी में हर दिन रेप का एक नया मामला सामने आ रहा है। फिर भी यूपी पुलिस हाथ पे हाथ धरे बैठी है। एक तरफ जहां बीजेपी सरकार अपनी बेहतर कानून व्यवस्था का पाठ पढ़ा रही है, तो वहीं दूसरी तरफ यूपी में आये दिन हो रहे रेप, इन कानून व्यवस्थाओं पर सवाल उठा रहे हैं। अभी हाल ही में यूपी के फरुखाबाद में लड़की को बंधक बनाकर रेप का मामला सामने आया है, तो वहीँ अब एक बार फिर सीएम योगी के अपने घर यानि गोरखपुर में रेप का एक मामला सामने आया है। बिहार की रहने वाली एक युवती को बहला-फुसलाकर उससे गैंगरेप किया गया है।

आरोप बिछिया की पार्षद के बेटे नीरज और उसके दोस्त पर लगा है। दरिंदों के चंगुल से किसी तरह छूटकर भागी युवती ने पीएसी कैंप परिसर में पहुंचकर अपनी जान बचाई। पीएसी की सूचना पर पहुंची शाहपुर पुलिस युवती के बयान के आधार पर आरोपी के घर पहुंच गई, मगर मौके से वे फरार हो गए।

गोरखपुर में रेप

गोरखपुर में रेप का एक मामला सामने आया

उसके घर से पुलिस को कई आपत्तिजनक सामान मिले हैं। पुलिस ने आरोपी के पिता को हिरासत में ले लिया है और केस दर्ज कर आरोपियों की तलाश कर रही है। बिहार की युवती गोरखपुर में मौसी के यहां रहती है। शनिवार रात में जंगल तुलसीराम बिछिया ताड़ीखाना अकोलहवा टोला निवासी पार्षद पुष्पा देवी का बेटा नीरज अपने दोस्तों के साथ युवती को घर लेकर पहुंचा और घर के ड्राइंग रूम में दुष्कर्म किया। आरोप है कि उसका तीसरा साथी भी रेप के प्रयास में था, मगर इसी बीच युवती वहां से बचकर निकल भागी। नीरज और उसके दोस्तों ने उसका पीछा किया लेकिन पीड़िता पीएसी कैंप पहुंच गई और वहां मौजूद संतरी को गैंगरेप की जानकारी दी, जिसके बाद पहुंची पुलिस आरोपी के घर पहुंची और उसके पिता राजेश कुमार को हिरासत में ले लिया।

loading...
शेयर करें