जिसने देखा वो देखता ही रह गया…

0

पणजी| गोवा देश के समुद्र तट ‘नाइट लाइफ’ पर्यटन की प्रमुख जगह है। 2015 में  यहां पहली बार 50 लाख से अधिक पर्यटक आए। यह जानकारी पर्यटन विभाग ने दी। विभाग की ओर से जारी अधिकारिक बयान में कहा गया कि गत साल 52, 97, 902 पर्यटक यहां आए जिनमें 5, 41, 490 विदेशी और शेष देशी पर्यटक थे।

विभाग के आंकड़ों में यह भी दर्शाया गया है कि पिछले साल पर्यटकों की संख्या में कुल 30.54 फीसदी की वृद्धि हुई, जिनमें देसी पर्यटकों के आगमन में 34 और विदेशी पर्यटकों के आगमन में 5.4 फीसदी की वृद्धि हुई। यूरोपीय देशों में लगातार आर्थिक मंदी के बावजूद रूस, संयुक्त अरब अमीरात, पुर्तगाल ब्रिटेन, अमेरिका, दक्षिण अफ्रीका और अन्य देशों से आने वाले पर्यटकों के आगमन में वृद्धि दर्ज की गई। इतना ही नहीं, मानसून के दौरान गत साल 18 प्रतिशत की तुलना में इस साल पर्यटकों की संख्या में 22 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई।

गोवा

राज्य के पर्यटन मंत्री दिलीप पारुलेकर ने कहा कि दुनिया भर में भू-राजनीतिक स्थिति नकारात्मक होने के बावजूद गोवा में पर्यटकों की संख्या में वृद्धि हुई जो बेहतर मार्केटिंग और पर्यटन को बढ़वा देने वाली पहल का नतीजा है। अब यह उम्मीद की जा सकती है कि भविष्य में लोग गोवा को छुट्टियां मनाने के लिए प्रमुख गंतव्य के रूप में चुनेंगे।

गोवा सबको है लुभाता

वर्षा ऋतु के आगमन के साथ ही प्रकृति गोवा को कुछ ऐसा ही अलग, लेकिन अदभुत स्वरूप प्रदान करती है। यह स्थान शांतिप्रिय पर्यटकों और प्रकृति प्रेमियों को बहुत भाता है। गोवा एक छोटा-सा राज्य है। यहां छोटे-बड़े लगभग 40 समुद्री तट है। इनमें से कुछ समुद्र तट अंर्तराष्ट्रीय स्तर के हैं। इसी कारण गोवा की विश्व पर्यटन मानचित्र के पटल पर अपनी एक अलग पहचान है।
गोवा में पर्यटकों की भीड़ सबसे अधिक गर्मियों के महीने में होती है। जब यह भीड़ समाप्त हो जाती है तब यहां शुरू होता है ऐसे सैलानियों के आने का सिलसिला जो यहां मानसून का लुत्‍फ उठाना चाहते हैं।

गोवा के मनभावन बीच की लंबी कतार में पणजी से 16 किलोमीटर दूर कलंगुट बीच, उसके पास बागा बीच, पणजी बीच के निकट मीरामार बीच, जुआरी नदी के मुहाने पर दोनापाउला बीच स्थित है। वहीं इसकी दूसरी दिशा में कोलवा बीच ऐसे ही सागरतटों में से है जहां मानसून के वक्त पर्यटक जरूर आना चाहेंगे। यही नहीं, अगर मौसम साथ दे तो बागाटोर बीच, अंजुना बीच, सिंकेरियन बीच, पालोलेम बीच जैसे अन्य सुंदर सागर तट भी देखे जा सकते हैं। गोवा के पवित्र मंदिर जिनसे श्री कामाक्षी, सप्तकेटेश्‍वर, श्री शांतादुर्ग, महालसा नारायणी, परनेम का भगवती मंदिर और महालक्ष्मी आदि दर्शनीय है।

loading...
शेयर करें