गोवा में सिर्फ ‘अच्छे पर्यटकों’ का स्वागत : पर्यटन मंत्री

0

पणजी। गोवा के पर्यटन मंत्री मनोहर अजगांवकर ने मंगलवार को पर्यटकों से शराब के नशे में महिलाओं से दुर्व्यवहार नहीं करने का आग्रह किया। अजगांवकर ने मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर द्वारा सार्वजनिक जगह पर शराब पीने व गंदगी फैलाने पर जुर्माने की घोषणा का स्वागत किया।

गोवा के पर्यटन मंत्रीअजगांवकर ने कहा कि सिर्फ अनुशासित अच्छे पर्यटकों का गोवा में स्वागत है, जो राज्य की संस्कृति, प्राकृतिक सौंदर्य व गोवा की भावना को बनाए रखने के इच्छुक हैं।

अजगांवकर ने यहां संवाददाताओं से कहा, “हम लोगों और पर्यटकों से किसी लड़की या महिला से बुरा व्यवहार नहीं करने का आग्रह करते हैं क्योंकि हमारा गोवा पूरे भारत और दुनिया में प्रसिद्ध है। लोग यहां हमारी संस्कृति और प्राकृतिक सुंदरता देखने आते हैं। गोवा का अनुशासन, संस्कृति और गोवा की मूल भावना (गोयनकापोनन) को बनाए रखा जाना चाहिए। शराब पीकर दुर्व्यवहार करने वाले से कोई समझौता नहीं किया जाएगा।”

मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर ने सोमवार को घोषणा की कि 15 अगस्त के बाद सार्वजनिक जगहों पर शराब पीने वालों पर 2,500 रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा। उन्होंने कहा कि गंदगी फैलाने पर जुर्माना देना होगा।

उन्होंने कहा कि इस मामले में एक अधिसूचना जल्द ही जारी की जाएगी।

अजगांवकर ने कहा कि 2,500 का जुर्माना कम है और इसे कहीं अधिक बढ़ाया जाना चाहिए।

उन्होंने कहा, “उन पर जितना संभव हो, जुर्माना लगाया जाना चाहिए। हम अच्छे पर्यटक चाहते हैं जो गोवा के अनुशासन व संस्कृति व गोयनकापोनन का पालन करें।”

यह पूछे जाने पर कि क्या जुर्माना गोवा में पर्यटकों को आने से रोक देगा, अजगांवकर ने कहा, “इससे पर्यटकों के प्रभावित होने का सवाल नहीं है।”

गोवा देश के बेहतरीन समुद्र तट और नाइटलाइफ पर्यटन स्थलों में से एक है और यह हर साल साठ लाख से अधिक पर्यटकों को आकर्षित करता है।

loading...
शेयर करें