गौरांग दोषी की ‘आंखें-2’ कानूनी पचड़े में फंसी

0

मुंबई। फिल्म ‘आंखें 2’ की घोषणा करने और उसका प्रचार करने के लिए निर्माता गौरांग दोषी के खिलाफ अदालत की अवमानना का एक आदेश जारी किया गया है। दोषी ने हाल ही में इस फिल्म को बनाने की घोषणा की थी। राजतरु स्टूडियोज लिमिटेड के तरुण अग्रवाल ने सवाल किया था कि जब सालों पहले 2002 में रिलीज हुई फिल्म ‘आंखें’ का अधिकार उन्होंने प्राप्त कर लिया था, तो फिर दोषी कैसे इस फिल्म को बना सकते हैं।

गौरांग दोषी

गौरांग दोषी ने फिल्म के अधिकार खरीदने के लिए अच्छी कीमत दी है

हालांकि निर्माता के वकील बॉबी मलहोत्रा ने कहा है कि दोषी ने इरोज इंटरनेशल मीडिया को अच्छी खासी कीमत देकर फिल्म के अधिकार खरीदे हैं। मलहोत्रा ने आईएएनएस से कहा, “हमने बाकायदा स्टैम्प पेपर पर एक कानूनी दस्तावेज के साथ और अच्छी खासी कीमत देकर इरोज इंटरनेशनल मीडिया से अधिकार खरीदे थे। आज फिल्म की कॉपीराइट, मीडिया राइट, फिल्म का शीर्षक और फिल्म के अन्य सभी अधिकार हमारे पास हैं।”

यह पूछे जाने पर कि क्या राजतरु स्टूडियोज लिमिटेड को इस बारे में पता है? मलहोत्रा ने कहा, “उन्हें यह मालूम है, क्योंकि हमने हलफनामे में इसका जिक्र किया है। वे दस्तावेज भी देख चुके हैं।” ‘आंखें-2’ साल 2002 में विपुल अमृत लाल शाह द्वारा निर्देशित फिल्म ‘आंखें’ का सीक्वल है।

loading...
शेयर करें