IPL
IPL

घर का सपना होगा पूरा

देहरादून। आवासहीन लोगों के लिए नया साल (2016) गुड न्यूज लेकर आया है। ऐसे लोग अब नया घर बनाने के साथ ही पुराने घर की मरम्मत भी करा सकेंगे। पीएम नरेंद्र मोदी की 25 जून को घोषित हाउसिंग फॉर आल (सबके लिए आवास) योजना के पात्र लोगों को लाभान्वित करने के लिए नगर निगम ने सभी तैयारियां पूरी कर ली हैं।

इस योजना के तहत लोग अपने टूटे-फूटे पुराने घर को तोड़कर दोबारा बना सकते हैं, स्लम बस्ती को पुनर्विकसित कर सकते हैं, भूमि है लेकिन मकान बनाने के लिए पैसा नहीं है तो भी योजना का लाभ ले सकते हैं। इसके अलावा अगर आप किराये पर रह रहे हैं तो हाउसिंग फॉर आल के तहत 6 लाख रुपये तक का ऋण बैंक से आपको मिल जायेगा। इस ऋण पर 6.5 प्रतिशत की सब्सिडी भी दी जाएगी।

घर

घर सर्वे के आदेश

मेयर विनोद चमोली ने बताया कि शहर के सर्वे के आदेश दे दिए गए हैं। डाटाबेस तैयार किया जाएगा और फिर आगे की प्लानिंग होगी। सबके लिए आवास योजना का लाभ देने के लिए नगर निगम ने आवेदन फार्म भी छपवा लिए हैं। पहले चरण में 5000 आवेदन फार्म छपवाए गये हैं। सबके लिए आवास योजना के चार कंपोनेंट प्लान हैं। योजना का सबसे ज्यादा फायदा उन लोगों को मिलेगा जो पैसा नहीं होने के कारण अपना घर ठीक और पक्का नहीं करा पाते। जो स्लम बस्तियां हैं वह भी योजना का लाभ लेकर उन्हें पुनर्विकसित कर सकते हैं, लेकिन इसके लिए भूमि की एनओसी होना बेहद जरूरी है।

ये भी पढ़ें – क्या इस बार भी मेयर रहेंगे बे-टिकट ?

घर-1

ले लीजिए फॉर्म

मेयर ने कहा कि छह लाख रुपये से ज्यादा का ऋण चाहने वाले व्यक्ति को भी छह लाख रुपये तक ही सब्सिडी दी जाएगी। इससे ज्यादा के ऋण पर बैंक की ऋण योजना की शर्तें लागू होंगी। उन्होंने कहा कि अपने घरों को बनाने के इच्छुक लाभार्थी नगर निगम से आवेदन फार्म ले सकते हैं। मेयर ने ये भी कहा कि कोई भी व्यक्ति योजना का लाभ वर्ष 2022 तक उठा सकता है।

ये भी पढ़ें – अपनी ही पार्टी के सांसद से घिरे मेयर

घर-4

यह है पात्रता

स्थानीयता के प्रमाण-पत्र के अलावा तीन लाख रुपये वार्षिक आय वालों को तीन लाख रुपये का ऋण दिया जा सकता है। तीन लाख से छह लाख रुपये वार्षिक आय वालों के लिए साठ वर्ग मीटर भूमि होनी भी जरूरी है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button