घूस में किडनी ले लो

लखनऊ। हत्‍या के झूठे केस में फंसे बेटों को बचाने एक बूढ़ी मां थाने पहुंची। दारोगा से गिड़गिड़ायी। बेटों के बेगुनाह होने का वास्‍ता दिया। दारोगा उसकी हालत पर तो नहीं पसीजा। कहा बेटों को छोड़ देंगे जाओ पांच लाख रुपए ले आओ। पांच लाख नहीं दे पाई तो दारोगा ने उसके बेटों को झूठे केस में जेल भेज दिया। लखीमपुर खीरी में एसपी के दफ्तर के बाहर बैठी इस बुजुर्ग महिला के हाथ में तख्‍ती देखकर लोग हैरान रह जाते हैं। उस तख्‍ती पर लिखा है  ‘साहब मुझे किडनी निकलवाने की अनुमति दे दें, दारोगा को पांच लाख घूस देनी है’

घूस

घूस में पांच लाख देने के लिए बेच रही किडनी

मामला जब एसपी अखिलेश चौरसिया के पास पहुंचा तो वे  हतप्रभ रह गए। मामले की जांच के आदेश दिए। बुजुर्ग महिला का दर्द जाना। उसके बाद दारोगा साधु शरण यादव को हटा दिया। दरअसल, धौरहरा की ग्राम पंचायत तुलसीरामपुरवा के मजरा गांव डिहुआकलां निवासी 80 साल की देवी ने एसपी को प्रार्थना पत्र देकर बताया कि गांव के ही बलराम शुक्ला की नौ जून 2015 को गोली मार दी गई थी। इस घटना में छह लोग नामजद थे।

दो बेटों पर हत्‍या का आरोप

उसके दो बेटों पर भी हत्‍या का आरोप है। मुकेश और महेश पर। दारोगा साधूशरण यादव अब दोनों बेटों को बचाने के एवज में पांच लाख रुपये की मांग कर रहा है। उस बुजुर्ग महिला ने बताया कि साधूशरण यादव और कोतवाल धौरहरा रंजीत सिंह यादव उसके बेटों 82 सीआरपीसी जारी करवाकर न्यायालय से तथ्‍यों को छिपाकर कुर्की कराने की कोशिश में है।

एसपी ने विवेचना स्‍थानांतरित की

महिला ने एसपी को बताया है कि वह अपनी दोनों किडनी बेचकर अपने दारोगा को पांच लाख रुपए देकर अपने बेटों को छुड़ाना चाहती है। एसपी अखिलेश चौरसिया ने बताया ‌कि महिला की मांग के बाद मामले की विवेचना स्थानांतरित कर दी गई है। गिरफ्तारी जरूर होगी।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button