चंदा कोचर को मिला वूडरो विल्सन पुरस्कार

0

नई दिल्ली।  आईसीआईसीआई बैंक की प्रबंध निदेशक व मुख्य कार्यकारी अधिकारी चंदा कोचर को वॉशिंगटन में वुडरो विल्सन केंद्र से ग्लोबल कॉरपोरेट नागरिकता के लिए वुडरो विल्सन पुरस्कार से सम्मानित किया गया है।

यह पुरस्कार आईसीआईसीआई समूह द्वारा स्थानीय समुदायों में लोगों के जीवन को सुधारने और बड़े पैमाने पर दुनिया में सुधार लाने में कोचर के सक्षम नेतृत्व में किए गए जबरदस्त काम का प्रतीक है।

चंदा कोचर

चंदा कोचर ने कहा- हमने 136,000 से अधिक लोगों को कौशल प्रशिक्षण दिया है

कोचर ने कहा, “मैं भारत, भारतीय महिलाओं और आईसीआईसीआई समूह की ओर से इस सम्मान को स्वीकार करती हूं। स्वतंत्रता से बाद से यह समूह पिछले छह दशकों से भारत की सेवा कर रही है। सालों से, हम अपने व्यवसाय से परे जाकर विभिन्न क्षेत्रों में परोपकारी परियोजनाएं चला रहे हैं, जिसमें शिक्षा से लेकर, स्वास्थ्य सेवा और कौशल विकास तक शामिल है। हमने 136,000 से अधिक लोगों को कौशल प्रशिक्षण दिया है, जिन्होंने इसकी मदद से रोजगार प्राप्त किया है।”

विल्सन केंद्र के बोर्ड ऑफ ट्रस्टी के अध्यक्ष थॉमस नैड्स ने कहा, “चंदा कोचर आईसीआईसीआई बैंक की रिटेल फ्रेंचाइजी को मजबूत करने, भारत में तकनीकी नवाचार में सुधार, और महिलाओं के लिए अवसरों को बढ़ाने में मदद करने के लिए जानी जाती हैं।”

वुडरो विल्सन पुरस्कार के सम्मानित लोगों में पूर्व राष्ट्रपति डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम, इंफोसिस के संस्थापक एन. आर. नारायण मूर्ति भी शामिल हैं।
आईसीआईसीआई बैंक की प्रबंध निदेशक व मुख्य कार्यकारी अधिकारी चंदा कोचर को वॉशिंगटन में वुडरो विल्सन केंद्र से ग्लोबल कॉरपोरेट नागरिकता के लिए वुडरो विल्सन पुरस्कार से सम्मानित किया गया है।

यह पुरस्कार आईसीआईसीआई समूह द्वारा स्थानीय समुदायों में लोगों के जीवन को सुधारने और बड़े पैमाने पर दुनिया में सुधार लाने में कोचर के सक्षम नेतृत्व में किए गए जबरदस्त काम का प्रतीक है।

कोचर ने कहा, “मैं भारत, भारतीय महिलाओं और आईसीआईसीआई समूह की ओर से इस सम्मान को स्वीकार करती हूं। स्वतंत्रता से बाद से यह समूह पिछले छह दशकों से भारत की सेवा कर रही है। सालों से, हम अपने व्यवसाय से परे जाकर विभिन्न क्षेत्रों में परोपकारी परियोजनाएं चला रहे हैं, जिसमें शिक्षा से लेकर, स्वास्थ्य सेवा और कौशल विकास तक शामिल है। हमने 136,000 से अधिक लोगों को कौशल प्रशिक्षण दिया है, जिन्होंने इसकी मदद से रोजगार प्राप्त किया है।”

विल्सन केंद्र के बोर्ड ऑफ ट्रस्टी के अध्यक्ष थॉमस नैड्स ने कहा, “चंदा कोचर आईसीआईसीआई बैंक की रिटेल फ्रेंचाइजी को मजबूत करने, भारत में तकनीकी नवाचार में सुधार, और महिलाओं के लिए अवसरों को बढ़ाने में मदद करने के लिए जानी जाती हैं।”

वुडरो विल्सन पुरस्कार के सम्मानित लोगों में पूर्व राष्ट्रपति डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम, इंफोसिस के संस्थापक एन. आर. नारायण मूर्ति भी शामिल हैं।
आईसीआईसीआई बैंक की प्रबंध निदेशक व मुख्य कार्यकारी अधिकारी चंदा कोचर को वॉशिंगटन में वुडरो विल्सन केंद्र से ग्लोबल कॉरपोरेट नागरिकता के लिए वुडरो विल्सन पुरस्कार से सम्मानित किया गया है।

यह पुरस्कार आईसीआईसीआई समूह द्वारा स्थानीय समुदायों में लोगों के जीवन को सुधारने और बड़े पैमाने पर दुनिया में सुधार लाने में कोचर के सक्षम नेतृत्व में किए गए जबरदस्त काम का प्रतीक है।

कोचर ने कहा, “मैं भारत, भारतीय महिलाओं और आईसीआईसीआई समूह की ओर से इस सम्मान को स्वीकार करती हूं। स्वतंत्रता से बाद से यह समूह पिछले छह दशकों से भारत की सेवा कर रही है। सालों से, हम अपने व्यवसाय से परे जाकर विभिन्न क्षेत्रों में परोपकारी परियोजनाएं चला रहे हैं, जिसमें शिक्षा से लेकर, स्वास्थ्य सेवा और कौशल विकास तक शामिल है। हमने 136,000 से अधिक लोगों को कौशल प्रशिक्षण दिया है, जिन्होंने इसकी मदद से रोजगार प्राप्त किया है।”

विल्सन केंद्र के बोर्ड ऑफ ट्रस्टी के अध्यक्ष थॉमस नैड्स ने कहा, “चंदा कोचर आईसीआईसीआई बैंक की रिटेल फ्रेंचाइजी को मजबूत करने, भारत में तकनीकी नवाचार में सुधार, और महिलाओं के लिए अवसरों को बढ़ाने में मदद करने के लिए जानी जाती हैं।”

वुडरो विल्सन पुरस्कार के सम्मानित लोगों में पूर्व राष्ट्रपति डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम, इंफोसिस के संस्थापक एन. आर. नारायण मूर्ति भी शामिल हैं।

loading...
शेयर करें